सुपरहीरो: टूटा था रेल ट्रैक, तौलिया दिखाकर रोकी ट्रेन, बचाई यात्रियों की जान, अब त्रिपुरा सरकार करेगी सम्मानित

Updated on: 17 July, 2019 12:33 AM

किसी फिल्म के सुपरहीरो की तरह रियल लाइफ के सुपहीरो स्वप्न देब बर्मा ने अपने साहस से और चतुराई से ट्रेन में सवार सैकड़ों लोगों की जान बचाई। इस सुपरहीरो की बहादुरी को सलाम करते हुए त्रिपुरा सरकार अब अगरतला के दिहाड़ी मजदूर स्वप्न देब बर्मा और उनकी बेटी सोमती को सम्मानित करेगी।

दरअसल स्वपन देब बर्मा और उनकी बेटी सोमती ने 15 जून को रेलवे ट्रेक को टूटा हुआ देख तौलिया दिखाकर ड्राइवर को ट्रेन रोकने का इशारा कर ट्रेन रुकवाई। इस तरह स्वपन देब बर्मा ने अपनी चतुराई से इतने बड़े हादसे को टाला।

यही वजह है कि 21 जून को त्रिपुरा सरकार में मंत्री सुदीप रॉय बर्मन ने स्वप्न देब बर्मा और उनकी बेटी सोमती को उनके किए गए इस साहस भरे काम के लिए सम्मानित किया। मंत्री ने कहा कि दोनों के साहसिक कार्य के विषय को सरकार के समक्ष उठाया जाएगा, जिससे कि इन्हें सम्मानित किया जा सके। 

ऐसे बची थी सैकड़ो लोगों की जान:  स्वप्न ने तौलिया दिखाकर ट्रेन को रोकने की कोशिश की, लेकिन इसके बावजूद ट्रेन नहीं रुकी। इसके बाद स्वप्न ट्रेक पर दौड़ने लगा और ट्रेन के लोको पायलट ने इमरजेंसी ब्रेक लगाकर ट्रेन रोक दी। जिसके बाद खुलासा हुआ कि ट्रैक टूटा हुआ था और इससे कई लोगों की जान जा सकती थी। वहां मौजूद सबी लोगों ने स्वप्न के इस काम की तारीफ की।

कुछ दिन पहले क्रिकेटर वीरेंद्र सहवाग ने भी स्वप्न को रियल हीरो बताते हुए एक ट्वीट में लिखा कि ऐसे रियल हीरोज को सरकार को सम्मानित करना चाहिए।

View More

24x7 HELP

Visitor
अब तक देखा गया