काले धन में इज़ाफ़ा: पीयूष गोयल ने कहा- अगले साल स्विट्ज़रलैंड देगा पूरा डाटा

Updated on: 20 July, 2019 03:01 AM

स्विस बैंक में भारतीयों का जमा पैसा बढ़ने पर केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने शुक्रवार को कहा कि यदि किसी को भी गलत करने का दोषी पाया गया तो उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने यह भी कहा कि वर्ष 2019 में सरकार को स्विट्जरलैंड में भारतीयों द्वारा जमा किए गए कालेधन या अवैध लेन-देन संबंधी पूरा डाटा मिल जाएगा। गोयल ने कहा कि 1 जनवरी 2018 से वित्त वर्ष के खत्म होने तक (31 मार्च 2019) का सारा डेटा हमारे पास आ जाएगा।

पीयूष गोयल का यह बयान भारतीयों का स्विस बैंकों में जमा धन 50 फीसदी बढ़ने संबंधी खबर के बाद आया है। चार साल में पहली बार स्विस बैंक में जमा धन बढ़ कर पिछले साल एक अरब स्विस फैंक (7,000 करोड़ रुपये) के दायरे में पहुंच गया है। यह आंकड़ा एक साल पहले की तुलना में 50 प्रतिशत की वृद्धि को दर्शाता है।

गोयल ने कहा कि भारत और स्विट्जरलैंड के करार में यह है। इस करार के तहत उसने भारत और कुछ अन्य देशों द्वारा दी गयी जानकारियों के आधार पर विदेशी ग्राहकों के बारे में सूचनायें साझा करना शुरू कर दिया है। 1 जनवरी से वित्त वर्ष के खत्म होने तक का सारा डाटा हमें मिलेगा।  ऐसे में कालेधन या अवैध लेन-देन का अनुमान लगाने की क्या जरूरत है?

गोयल ने कहा कि वर्तमान समय में किसी भी व्यक्ति को देश से बाहर रुपये जमा करने का साहस नहीं है और यह सरकार के कठिन परिश्रम से संभव हुआ है।
   
रुपये में गिरावट पर भी बोले पीयूष गोयल
डॉलर के मुकाबले रुपये की विनिमय दर में भारी गिरावट के बीच वित्त मंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि इस मामले में "झटके में प्रतिक्रिया" करने की जरूरत नहीं है। गौरतलब है कि वैश्विक व्यापार में प्रशुल्क-युद्ध छिड़ने , कच्चे तेल के दाम में उछाल और अमेरिका में ब्याज दर में बढ़ोतरी से विदेशी पूंजी की निकासी के बीच कल पहली बार डारल के मुकाबले रुपया 69.10 तक हल्का हो गया था। हालांकि बाद में यह कुछ सुधर कर 18 पैसे की गिरावट के साथ 68.79 रुपये प्रति डॉलर पर बंद हुआ। यह डालर के मुकाबले रुपये की अब तक की न्यूनतम बंद दर है।

गोयल ने संवाददाताओं से कहा कि घरेलू मुद्रा की विनिमय दर को लेकर झटके में किसी कार्रवाई को आवश्यकता नहीं है। वित्त मंत्री ने रुपये की गिरावट से जुड़े सवाल के जवाब में कहा कि वैश्विक कारकों को ध्यान में रखते हुए सभी हितधारकों से सलाह - मशवरा करने के बाद उचित कदम उठाया जाएगा। उन्होंने यह भी कहा कि देश के पास पर्याप्त मात्रा में विदेशी मुद्रा भंडार मौजूद है।

View More

24x7 HELP

Visitor
अब तक देखा गया