बीजेपी मुख्यालय में होगा अंतिम दर्शन, सात दिन का राष्ट्रीय शोक

Updated on: 06 June, 2020 03:07 AM

अपने प्रिय नेता के अंतिम दर्शन के लिए सुबह से ही सैकड़ों की संख्या में लोग पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के आवास पर पहुंच रहे हैं। नई दिल्ली के लुटियंस जोन में कृष्णा मेनन मार्ग पर स्थित बंगला नंबर 6-ए के आसपास सुरक्षा का भारी बंदोबस्त है। पुलिस और यातायात पुलिस के साथ-साथ वहां अर्द्धसैनिक बलों के जवानों की भी तैनाती की गयी है।
   
सुरक्षा अधिकारियों के मुताबिक, वाजपेयी के अंतिम दर्शन के लिए उनके आवास के दरवाजे सुबह करीब साढ़े सात बजे खोले गये। बाद में वाजपेयी का पार्थिव शरीर भारतीय जनता पार्टी के दीन दयाल उपाध्याय मार्ग स्थित नव-निर्मित मुख्यालय पर ले जाया जाएगा। 'राष्ट्रीय स्मृति स्थल के लिए उनकी अंतिम यात्रा दोपहर एक बजे शुरू होगी।

आपको बता दें कि लंबी बीमारी के बाद कल एम्स में पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का निधन हो गया। वह 93 वर्ष के थे। सुबह कृष्णा मेनन मार्ग पहुंचने वालों में शामिल 52 वर्षीय योगेश कुमार उत्तराखंड के उत्तरकाशी से अपने नेता के अंतिम दर्शन को आये हैं। लोग पूरी रात यात्रा करके दिल्ली आये हैं ताकि अपने नेता को एक अंतिम बार देख सकें।
    
कुमार का दावा है, ''1984 में जब वाजपेयी जी गंगोत्री जाने के दौरान उत्तरकाशी में रूके थे, तब मैं उनसे मिला था। 1986 में वह फिर से उत्तरकाशी आये। कुमार अपने साथ याद के रूप में अपनी और वाजपेयी जी की तस्वीर लेकर आये हैं। उनका कहना है, मैं अपने साथ गंगोत्री से गंगाजल लेकर आया हूं। आशा करता हूं कि उन्हें अंतिम बार देख सकूंगा।

View More

24x7 HELP

Visitor
अब तक देखा गया