बांग्लादेश सीमा से रुकेगी घुसपैठ, दोनों देश करेंगे एक-दूसरे की मदद

Updated on: 16 September, 2019 04:41 AM

भारत व बांग्लादेश सीमा पर मॉडल क्राइम फ्री जोन की संख्या बढ़ाई जाएगी। सरकार कम से कम दर्जन भर नए सीमावर्ती क्षेत्रों में इस तरह के जोन बनाने पर विचार कर रही है।

इसके जरिये दोनों देश दोस्ताना तरीके से एक दूसरे की मदद करते हुए सीमावर्ती क्षेत्र में अपराध, तस्करी व घुसपैठ रोकने के लिए काम करेंगे। एनआरसी को लेकर चल रही कवायद के बीच भारत सरकार बांग्लादेश से संबंधों की मजबूती पर जोर दे रही है। दोनों देशों के बीच सीमावर्ती क्षेत्रों में सहयोग लगातार बढ़ रहा है।

मार्च में पहले मॉडल क्राइम फ्री जोन की स्थापना की गई थी। संयुक्त रूप से पश्चिम बंगाल में पेट्रापोल के निकट कल्याणी में अंतरराष्ट्रीय सीमा से सटे क्षेत्र में इसकी स्थापना की गई थी।

सूत्रों ने कहा कि बांग्लादेश बार्डर गार्ड और सीमा सुरक्षा बल पूरे समन्वय के साथ सीमावर्ती इलाकों में अपराध पर नकेल के लिए काम कर रहे हैं। तस्करी पर अंकुश लगाने के लिए दोनों देशों ने कई कदम उठाए हैं। बाड़ वाले क्षेत्रों के अलावा जल क्षेत्र में नाव से गश्त तेज की गई है।

दोनों देशों के सुरक्षा बल साझा गश्त के अलावा कई जगहों पर खुफिया सूचनाओं में बेहतर समन्वय पर काम कर रहे हैं। सूत्रों ने कहा कि मॉडल क्राइम फ्री जोन में आधुनिक उपकरणों के जरिये निगरानी पर जोर दिया जाएगा। नए उपकरण किन जगहों पर लगाए जाएंगे यह दोनों देशों की सुरक्षा समन्वय टीम की रिपोर्ट पर तय होगा। सूत्रों ने कहा कि दोनों देश अपने अनुभव के आधार पर तकनीकी और जमीनी सहयोग पर काम कर रहे हैं। 

View More

24x7 HELP

Visitor
अब तक देखा गया