PM मोदी ने अपने जन्मदिन पर काशी विश्वनाथ मंदिर में पूजा-अर्चना की, योगी भी दिखे साथ

Updated on: 17 November, 2019 02:40 PM
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का 68वां जन्मदिन सोमवार को वाराणसी में मनाया। अपने जन्मदिन के अवसर पर मोदी देर शाम काशी विश्वनाथ मंदिर पहुंचे, जहां उन्होंने पूजा-अर्चना की। इस मोके पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी साथ दिखे। इससे पहले पीएम नरउर में प्राथमिक विद्यालय के बच्चों के साथ खुशियां साझा कीं। बच्चों ने उन्हें जन्मदिन के तोहफे के रूप में ग्रीटिंग कार्ड और बधाई दी। इस अवसर पर कहीं सोहर गाए गए तो कहीं मंत्रोच्चार के बीच उनके दीर्घायु की कामना की गई। यह पहला मौका है, जब किसी प्रधानमंत्री ने काशी में अपना जन्मदिन मनाया है। इसके बाद प्रधानमंत्री ने डीरेका में मलिन बस्तियों के 70 बच्चों से मुलाकात की। यहां आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं ने मानदेय बढ़ाने के लिए प्रधानमंत्री का आभार जताया। प्रधानमंत्री ने उन्हें यशोदा के विशेषण से नवाजा। नरउर में लगी मोदी की पाठशाला शाम करीब 4:50 बजे पहुंचे पीएम शहर से करीब 12 किमी दूर काशी विद्यापीठ विकासखंड के नरउर गांव में प्राथमिक विद्यालय के बच्चों से मिले और उनसे सवाल पूछे। प्रधानमंत्री के पहुंचने पर स्वागत गीत गूंजे। सवाल-जवाब के दौरान पीएम कई बार मुस्कराए। पीएम से मिलकर बच्चे भी काफी खुश दिखे। पीएम ने स्कूल का निरीक्षण किया। स्मार्ट क्लास देखी। शिक्षकों से बात की। पढ़ाई का तरीका पूछा। जब तक पीएम रहे, बाहर खड़ी भीड़ मोदी-मोदी व हर-हर महादेव का उद्घोष करती रही। प्रधानमंत्री करीब 40 मिनट तक स्कूल में रहे। डर लगे तो राम का नाम लो नरउर में प्रधानमंत्री ने बच्चों से हाथ मिलाया और खूब बातें की। एक बच्चे ने पूछा 'आपको किस विषय से डर लगता है?' प्रधानमंत्री ने कहा- 'किसी से नहीं। डर लगे तो राम का नाम लो।' वाराणसी में उत्साह का माहौल मोदी के जन्मदिन पर पूरी काशी में उल्लास-उत्साह दिखा। सुबह से शाम तक ढोल नगाड़े गूंजे। जगह-जगह केक काटे गए और लड्डू बांटे गए। पूरा शहर दुल्हन की तरह सजा रहा। कई मंदिरों में पूजन व हवन हुआ। 68 नारियल अर्पित किये गए। साथ ही 68 किलो लड्डू का वितरण किया गया। मलिन बस्तियों में सफाई हुई। गलियों से लेकर कॉलोनियों तक स्वच्छता अभियान चला। मुस्लिम महिलाएं भी अपने सांसद का जन्मदिन मनाने के लिए घर से बाहर निकलीं। कहीं सोहर गाए गए तो कहीं मंत्रोचार के बीच पीएम के दीर्घायु की कामना की गई। कई जगह रक्तदान शिविर भी लगाए गए। बच्चे का नाम नरेंद्र मोदी रखा बड़ी पियरी स्थित टंडन नर्सिंग होम में सोमवार को जन्मे एक बच्चे का नाम उसके माता-पिता ने नरेन्द्र मोदी रखा। विश्वेश्वरगंज के नारायण केशरी और सुमन केशरी का कहना था कि बच्चे का जन्म प्रधानमंत्री के जन्मदिन के अवसर पर हुआ है तो इसके लिए इससे बेहतर नाम और क्या हो सकता है। राज्यपाल व सीएम ने की अगवानी प्रधानमंत्री सोमवार सायं 4:50 बजे बाबतपुर स्थित लाल बहादुर शास्त्री अंतराष्ट्रीय एयरपोर्ट पहुंचे। यहां सूबे के राज्यपाल राम नाईक, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उनकी अगवानी की। उनके साथ भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष डॉ. महेन्द्रनाथ पाण्डेय व अन्य नेता भी थे। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का 68वां जन्मदिन सोमवार को वाराणसी में मनाया। अपने जन्मदिन के अवसर पर मोदी देर शाम काशी विश्वनाथ मंदिर पहुंचे, जहां उन्होंने पूजा-अर्चना की। इस मोके पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी साथ दिखे। इससे पहले पीएम नरउर में प्राथमिक विद्यालय के बच्चों के साथ खुशियां साझा कीं। बच्चों ने उन्हें जन्मदिन के तोहफे के रूप में ग्रीटिंग कार्ड और बधाई दी। इस अवसर पर कहीं सोहर गाए गए तो कहीं मंत्रोच्चार के बीच उनके दीर्घायु की कामना की गई। यह पहला मौका है, जब किसी प्रधानमंत्री ने काशी में अपना जन्मदिन मनाया है। इसके बाद प्रधानमंत्री ने डीरेका में मलिन बस्तियों के 70 बच्चों से मुलाकात की। यहां आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं ने मानदेय बढ़ाने के लिए प्रधानमंत्री का आभार जताया। प्रधानमंत्री ने उन्हें यशोदा के विशेषण से नवाजा। नरउर में लगी मोदी की पाठशाला शाम करीब 4:50 बजे पहुंचे पीएम शहर से करीब 12 किमी दूर काशी विद्यापीठ विकासखंड के नरउर गांव में प्राथमिक विद्यालय के बच्चों से मिले और उनसे सवाल पूछे। प्रधानमंत्री के पहुंचने पर स्वागत गीत गूंजे। सवाल-जवाब के दौरान पीएम कई बार मुस्कराए। पीएम से मिलकर बच्चे भी काफी खुश दिखे। पीएम ने स्कूल का निरीक्षण किया। स्मार्ट क्लास देखी। शिक्षकों से बात की। पढ़ाई का तरीका पूछा। जब तक पीएम रहे, बाहर खड़ी भीड़ मोदी-मोदी व हर-हर महादेव का उद्घोष करती रही। प्रधानमंत्री करीब 40 मिनट तक स्कूल में रहे। डर लगे तो राम का नाम लो नरउर में प्रधानमंत्री ने बच्चों से हाथ मिलाया और खूब बातें की। एक बच्चे ने पूछा 'आपको किस विषय से डर लगता है?' प्रधानमंत्री ने कहा- 'किसी से नहीं। डर लगे तो राम का नाम लो।' वाराणसी में उत्साह का माहौल मोदी के जन्मदिन पर पूरी काशी में उल्लास-उत्साह दिखा। सुबह से शाम तक ढोल नगाड़े गूंजे। जगह-जगह केक काटे गए और लड्डू बांटे गए। पूरा शहर दुल्हन की तरह सजा रहा। कई मंदिरों में पूजन व हवन हुआ। 68 नारियल अर्पित किये गए। साथ ही 68 किलो लड्डू का वितरण किया गया। मलिन बस्तियों में सफाई हुई। गलियों से लेकर कॉलोनियों तक स्वच्छता अभियान चला। मुस्लिम महिलाएं भी अपने सांसद का जन्मदिन मनाने के लिए घर से बाहर निकलीं। कहीं सोहर गाए गए तो कहीं मंत्रोचार के बीच पीएम के दीर्घायु की कामना की गई। कई जगह रक्तदान शिविर भी लगाए गए। बच्चे का नाम नरेंद्र मोदी रखा बड़ी पियरी स्थित टंडन नर्सिंग होम में सोमवार को जन्मे एक बच्चे का नाम उसके माता-पिता ने नरेन्द्र मोदी रखा। विश्वेश्वरगंज के नारायण केशरी और सुमन केशरी का कहना था कि बच्चे का जन्म प्रधानमंत्री के जन्मदिन के अवसर पर हुआ है तो इसके लिए इससे बेहतर नाम और क्या हो सकता है। राज्यपाल व सीएम ने की अगवानी प्रधानमंत्री सोमवार सायं 4:50 बजे बाबतपुर स्थित लाल बहादुर शास्त्री अंतराष्ट्रीय एयरपोर्ट पहुंचे। यहां सूबे के राज्यपाल राम नाईक, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उनकी अगवानी की। उनके साथ भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष डॉ. महेन्द्रनाथ पाण्डेय व अन्य नेता भी थे।
View More

24x7 HELP

Visitor
अब तक देखा गया