सर्जिकल स्ट्राइक के 2 साल पूरे, सेना की पराक्रम पर्व प्रदर्शनी का उद्घाटन करेंगे पीएम मोदी

Updated on: 17 September, 2019 09:04 PM
सर्जिकल स्ट्राइक की दूसरी वर्षगांठ पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी राजस्थान के जोधपुर पहुंचे हैं। यहां मिलिट्री स्टेशन पर वह सेना की प्रदर्शनी 'पराक्रम पर्व' का उद्घाटन करेंगे। उन्होंने आज सुबह कोणार्क कोर के युद्ध स्मारक पर शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित की। इस मौके पर तीनों सेनाओं के प्रमुख, रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमन, मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे सिंधिया भी मौजूद थीं। 28 से 30 सितंबर तक देश में पराक्रम पर्व मनाया जा रहा है। पराक्रम पर्व भारतीय सेना ने 28-29 सितंबर, 2016 की दरम्यानी रात को पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में सर्जिकल स्ट्राइक की थी और आतंकवादियों को भारी नुकसान पहुंचाया था। सेना की इस शौर्य गाथा के दो साल पूरे हो गए हैं। इस अवसर पर देश के 51 शहरों में पराक्रम पर्व मनाया जा रहा है। कई स्थानों पर तीन दिनों तक सर्जिकल स्ट्राइक प्रदर्शनी आयोजित की जा रही है। इसमें सेना के हथियार और अन्य सैन्य उपकरण प्रदर्शित किए जाएंगे। पीएम मोदी आज शुक्रवार को जोधपुर में तीनों सेनाओं के टॉप कमांडर्स को संबोधित भी करेंगे। इसके बाद जोधपुर एयरफोर्स स्टेशन पर 28 सितंबर को तीनों सेना के प्रमुख सहित टॉप कमांडर्स की कंबाइंड कॉन्फ्रेंस भी होगी। पीएम ने जोधपुर मिलिटरी स्टेशन में सेना के हथियारों और सैन्य उपकरणों की प्रदर्शनी का आवलोकन किया। इसके तहत देश में कई स्थानों पर तीन दिनों तक सर्जिकल स्ट्राइक प्रदर्शनी आयोजित की जा रही है। इसमें सेना के हथियार और अन्य सैन्य उपकरण प्रदर्शित किए जाएंगे। 29 सितंबर से सेना करेगी दो दिवसीय आयोजन भारतीय नौसेना ने वर्ष 2016 में रक्षा बलों द्वारा की गई सर्जिकल स्ट्राइक की दूसरी वर्षगांठ पर मुम्बई और गोवा में 29 सितंबर से दो दिवसीय कार्यक्रम की योजना बनायी है। नौसेना के एक अधिकारी ने बृहस्पतिवार को बताया कि यहां पश्चिमी नौसेना कमान के अंतर्गत नौसेना की गोदी में बल्लार्ड पायर क्रूजर व्हार्फ पर कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा जिसमें प्रदर्शनी के स्टॉल और वीडियो वॉल मुख्य आकर्षण होंगे। कार्यक्रम स्थल के लिए प्रवेश टाइगर गेट से होगा। अधिकारी ने कहा,''कार्यक्रम में 29 सितंबर, 2016 को की गई सर्जिकल स्ट्राइकल में सेना के साहसिक कृत्य को प्रदर्शित किया जाएगा तथा उरी हमले के दौरान हुए भारतीय सैनिकों के बलिदान को भी याद किया जाएगा। जिन विभिन्न कार्यक्रमों की योजना बनायी गयी है उनमें सशस्त्र बलों के पराक्रम, जहाजों, पनडुब्बियों, विमानों, शस्त्रों एवं उपकरणों आदि की प्रदर्शनी होगी। उन्होंने बताया कि आम लोग, स्कूल के बच्चे, एनसीसी के कैडेट जहाजों, पनडुब्बियों आदि को देख सकेंगे। इस मौके पर स्कूल के बच्चों के लिए बहादुर सैनिकों के सम्मान में विभिन्न प्रतियोगिताओं का आयोजन भी किया जाएगा।
View More

24x7 HELP

Visitor
अब तक देखा गया