बुलंदशहर हिंसा: पुलिस के सामने तीन बड़े सवाल, नहीं मिल रहे जवाब

Updated on: 19 August, 2019 01:32 AM
बुलंदशहर प्रकरण (Bulandshahr Violence) में पुलिस ( UP Police) के सामने अब तीन बड़े सवाल हैं, जिनके जवाब तलाशने में पूरा पुलिस अमला जुटा है। लेकिन अभी तक भी इनके जवाब वह नहीं तलाश सके हैं। सबसे पहला सवाल है कि किसने की गोकशी, जिसके कारण भड़की हिंसा, दूसरा सवाल इंस्पेक्टर को गोली मारने वाला कौन है और तीसरा सवाल है कि इंस्पेक्टर से लूटी गई पिस्टल कहां है, जिससे ही दोनों हत्या होने का शक व्यक्त किया जा रहा है। बुलंदशहर हिंसा प्रकरण में पुलिस की 15 से अधिक टीमें बीते एक सप्ताह से लगी हुई हैं। लेकिन इन टीमों को आज तक बड़ी कोई सफलता हासिल नहीं हो सकी है। पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों की मानें तो पुलिस टीमें तीन सवालों के जवाब तलाशने में जुटी हैं। पुलिस के सामने सबसे पहला सवाल है कि स्याना में गोकशी किसने की, जिसकी वजह से यह हिंसा भड़की और गोकशी के बाद इन अवशेषों को कहीं हिंसा भड़काने के उद्देश्य से ही तो नहीं फेंका गया था। दूसरा बड़ा सवाल है कि आखिर इंस्पेक्टर सुबोध को गोली किसने मारी, उन्हें मारने वाले संदिग्ध के रूप में पहले पुलिस ने जीतू फौजी को चिन्हित किया था, लेकिन बाद में एसटीएफ के एसएसपी का ही बयान आ गया कि जीतू फौजी गोली मारने वालों में नहीं है, वह सिर्फ बवाल के समय मौके पर था। इसके साथ ही तीसरा बड़ा सवाल यह है कि इंस्पेक्टर से लूटी गई पिस्टल कहां है और किसके पास है। इन सवालों के जवाब तलाशने में ही पुलिस की सारी टीमें लगी हैं, लेकिन उन्हें इनके संबंध में अभी तक कोई जवाब नहीं मिल सका है और आला अधिकारी इन सवालों के संबंध में कोई भी स्पष्ट जवाब देने को तैयार नहीं हैं। यह भी माना जा रहा है कि जिससे पिस्टल बरामद होगी, उसके द्वारा ही इंस्पेक्टर की हत्या की गई होगी। संभव है कि सुमित को भी इसी पिस्टल से गोली मारी गई हो। लेकिन इन सवालों के जवाब पुलिस को तभी मिलेंगे जब वह आरोपियों तक पहुंच पाने में सफल हो सकेगी।
View More

24x7 HELP

Visitor
अब तक देखा गया