गूगल डाटा लीक मामला : सीईओ सुंदर पिचाई अमेरिकी संसद के समक्ष पेश हुए

Updated on: 16 October, 2019 11:10 AM
ग्राहकों के डाटा में सेंध के आरोपों से घिरी कंपनी गूगल के भारतीय मूल के सीईओ सुंदर पिचाई मंगलवार को अमेरिकी संसद के समक्ष पेश हुए। अमेरिकी संसद ने पिचाई से उनके सर्च नतीजों में राजनीतिक झुकाव, एंड्रॉयड द्वारा एकत्रित डाटा के इस्तेमाल आदि पर सवाल किया। गूगल सीईओ ने जवाब में कहा कि गूगल की सर्च के नतीजे किसी भी तरह से राजनीतिक दृष्टिकोण नहीं रखते हैं। हालांकि उन्होंने इस बात को जरूर कुबूल किया कि सर्च के दौरान कई ऐसे पहलू होते हैं जिन्हें आधार बनाया जाता है। इसमें लोग क्या देखना चाहते हैं यह अहम पहलू होता है। सर्च का समय, उस वक्त का माहौल और क्षेत्र आदि पर सर्च नतीजे जरूर निर्भर करते हैं। पिचाई ने इसमें किसी तरह के झुकाव को नकारते हुए कहा कि गूगल में नतीजे एक एल्गोरिदम से दिए जाते हैं न कि गूगल के कर्मियों के द्वारा। यूजर्स का भरोसा कायम रखना मूल सिद्धांत : पिचाई पिचाई ने अपनी पेशी से पहले कहा है कि यूजर्स का भरोसा कायम रखना कंपनी के सबसे मूर्ल ंसद्धातों में से एक है। उन्होंने कहा कि गोपनीयता और सुरक्षा दो ऐसे अहम हिस्से हैं जो गूगल का मिशन हैं। कंपनी हमेशा अमेरिकी सरकार के साथ काम करने को लेकर प्रतिबद्ध है ताकि देश को सुरक्षित रखा जा सके। तीन साल से हैं सीईओ - 15 साल से गूगल से जुड़े पिचाई, 03 साल से कंपनी के सीईओ - 112 अरब डॉलर का सालाना कारोबार 2017 में - 93 फीसदी कब्जा बाजार में सर्च इंजन का - 95% मोबाइल में एंड्रायड ऑपर्रेंटग सिस्टम - यूट्यूब, जीमेल भी अपने क्षेत्र में शीर्ष पर
View More

24x7 HELP

Visitor
अब तक देखा गया