मध्य प्रदेश में BJP की हार के बाद प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह ने दिया इस्तीफा, अमित शाह ने किया इनकार

Updated on: 18 November, 2019 05:15 AM
मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव (Madhya Pradesh Assembly Elections) के नतीजों के बाद बसपा के समर्थन के बाद कांग्रेस (Congress) की सरकार बनने जा रही है। वहीं प्रदेश में बीजेपी (BJP) के 15 साल के शासन का अंत हो गया है। बीजेपी की इस हार के बाद मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव में बीजेपी को मिली हार की जिम्मेदारी लेते हुए मध्य प्रदेश के बीजेपी अध्यक्ष राकेश सिंह (Rakesh Singh) ने इस्तीफे की पेशकश की है। उधर, मध्य प्रदेश के महाधिवक्ता पुरूषेन्द्र कौरव ने बुधवार को इस्तीफा दे दिया। कौरव ने अपना इस्तीफा मध्य प्रदेश कानून विभाग के प्रमुख सचिव को भेजा है। भारतीय जनता पार्टी (BJP) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने मध्य प्रदेश इकाई के अध्यक्ष राकेश सिंह का इस्तीफा नामंज़ूर कर दिया है और उन्हें कड़ी मेहनत करने के लिए कहा है। मध्य प्रदेश के महाधिवक्ता पुरूषेन्द्र कौरव ने कहा था कि प्रदेश में सरकार बदलने के कारण मैंने मध्य प्रदेश के महाधिवक्ता पद से इस्तीफा दे दिया है। वर्ष 2017 में भाजपा सरकार ने उन्हें महाधिवक्ता नियुक्त किया था। कांग्रेस में सीएम कमलनाथ या सिंधिया, फैसला आज मध्य प्रदेश में कमलनाथ का राज होगा या फिर ज्योतिरादित्य सिंधिया के सिर ताज सजेगा, इसका फैसला आज हो सकता है। विधायक दल ने बैठक के बाद मुख्यमंत्री चुनने का अधिकार पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी को दे दिया है। माना जा रहा है कि राहुल गांधी कमलनाथ और ज्योतिरादित्य सिंधिया से मुलाकात के बाद अंतिम मुहर लगाएंगे। दोनों नेता गुरुवार को दिल्ली पहुंच सकते हैं। उधर, पर्यवेक्षक बनाकर भोपाल भेजे गए ए के एंटनी और कुंवर भंवर जितेंद्र सिंह ने बुधवार को विधायकों से अलग-अलग राय ली। इससे वह कांग्रेस अध्यक्ष को अवगत कराएंगे। इससे पहले भोपाल में दो घंटे चली विधायकों की बैठक में मुख्यमंत्री चयन का अधिकार कांग्रेस अध्यक्ष को देने का प्रस्ताव सर्वसम्मति से पारित कर दिया। बैठक में कमलनाथ, ज्योतिरादित्य सिंधिया, दिग्विजय सिंह, अरुण यादव भी मौजूद थे। बैठक के पहले नेताओं ने राज्यपाल से मुलाकात कर 121 विधायकों के समर्थन का पत्र सौंपा।
View More

24x7 HELP

Visitor
अब तक देखा गया