नशेड़ी दूल्हे के साथ फेरे लेने से दुल्हन का इंकार, बीएड छात्र ने थामा लड़की का हाथ, दूल्हा पहुंचा हवालात

Updated on: 19 October, 2019 11:08 AM
शादी में एक दूल्हे को शराब पीना इतना भारी पड़ा कि उसे बिना दुल्हन के ही वापास लौटना पड़ा। इसके अलावा हवालात की हवा जो खाई सो अलग। खुर्जा में आई बारात में जब जयमाला पर दूल्हे को शराब के नशे में देखा तो दुल्हन ने जयमाला डालने से इनकार कर दिया। इससे वर-वधु पक्ष में खलबली मच गई। संभ्रांत लोगों ने किसी तरह हंगामे को शांत भी कराया, लेकिन दुल्हन ने नशेड़ी दूल्हे के साथ फेरे लेने से साफ इंकार कर दिया। हंगामे के बाद वर पक्ष हवालात पहुंच गया। सोमवार को दोनों पक्षों में सुलहनामा हो गया। अब दुल्हन को अपनाने के लिए बीएड में अध्यनरत एक छात्र आगे आ गया है। रविवार रात सिकंदराबाद-गुलावठी मार्ग स्थित एक गांव से मूंडाखेड़ा रोड पर एक बारात आई थी। हाईस्कूल पास दुल्हन और निजी कंपनी में नौकरी करने वाले इंटरमीडिएट पास दूल्हे की धूमधाम से चढ़त हुई, जिसके बाद खुशी-खुशी बारातियों ने दावत का आनंद भी लिया। शादी की सभी रस्में हो रही थीं, लेकिन उस वक्त हंगामा खड़ा हो गया, जब दूल्हा-दुल्हन जयमाला की तैयारी में थे। शराब के नशे में धुत दूल्हे का भाई डीजे पर डांस करते-करते जमीन पर गिर गया। जयमाला को छोड़कर दूल्हा भी डीजे के पास पहुंचा और अजीब तरह की हरकतें करने लगा। दूल्हे के नशे में होने की बात सुनकर दुल्हन ने जयमाला डालने से इनकार कर दिया। इस पर वर-वधु पक्ष के लोगों में खलबली मच गई। दूल्हे और उसके भाई की हरकतों को देखकर वधु पक्ष के लोगों ने विरोध किया तो दोनों पक्षों में कहासुनी हो गई। हालांकि शादी-समारोह में मौजूद संभ्रांत लोगों ने किसी तरह दोनों पक्षों को समझाकर शांत कराया और जयमाला का कार्यक्रम पुन: शुरू हुआ, लेकिन फिर दुल्हन ने दूल्हे के साथ सात फेरे लेने से साफ इंकार कर दिया। इसके बाद शादी समारोह में जमकर हंगामा हुआ। बात थाने तक पहुंच गई, जहां वर पक्ष के लोगों को कई घंटे थाने में भी बैठना पड़ा। शादी टूटने के बाद संभ्रांत लोगों की मौजूदगी में दोनों पक्षों के बीच सुलहनामा हुआ और कानूनी कार्रवाई नहीं की गई। इसके बाद जेवर रोड के एक गांव निवासी बीएड के छात्र ने दुल्हन के साथ सात फेरे लेकर उसको सदा के लिए अपना बना लिया। इंस्पेक्टर अरविंद कुमार ने बताया, दोनों पक्षों के बीच सुलहनामा हो गया था, जिसके चलते मुकदमा नहीं लिखा गया है। यदि मामले में तहरीर मिलती है तो न्यायपूर्ण कार्रवाई की जाएगी।
View More

24x7 HELP

Visitor
अब तक देखा गया