बुलंदशहर हिंसा में दो और गोकशी के तीन आरोपी गिरफ्तार, इंस्पेक्टर के हत्यारे अभी भी फरार

Updated on: 15 October, 2019 12:58 PM
बुलंदशहर हिंसा (Bulandshahr violence) में एसटीएफ (STF) ने वीडियो फुटेज से प्रकाश में आए दो आरोपी सचिन कोबरा और जोनी को मंगलवार को गिरफ्तार कर लिया। इसके अलावा, पुलिस ने महाव में गोकशी के तीन मुख्य आरोपियों को गिरफ्तार किया है। उधर, हिंसा की न्यायिक जांच की मांग को लेकर अनशन पर बैठे यति नरसिंहानंद सरस्वती ने खून से सीएम को लिखे पत्र में प्रधानमंत्री पर आपत्तिजनक टिप्पणी की है। वहीं, बुलंदशहर के चार विधायकों की मुख्यमंत्री से मुलाकात में योगी आदित्यनाथ ने कहा कि हिंसा में कोई भी बेकसूर जेल नहीं जाएगा। बजरंग दल के जिला संयोजक योगेश राज समेत अभी 19 नामजद और 47 अज्ञात फरार चल रहे हैं। एसटीएफ, क्राइम ब्रांच और पुलिस की 15 टीम आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए लगातार दबिश डाल रही हैं। तीन दिसंबर को स्याना में गोकशी पर हुई हिंसा में गोली लगने से इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह और युवक सुमित की मौत हो गई थी। एसआई सुभाष चन्द ने 27 नामजद और 60 अज्ञात के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई थी। इसमें मृतक सुमित भी नामजद था और मुख्य आरोपी बजरंग दल का जिला संयोजक योगेश राज है। अभी तक हिंसा मामले में 18 आरोपी जेल में बंद हैं। मंगलवार की शाम एसटीएफ ने स्याना क्षेत्र में गढिया मानपुर बस स्टैंड से सचिन उर्फ कोबरा निवासी गांव हरवानपुर और जोनी पुत्र सुशील निवासी गांव चिंगरावठी को गिरफ्तार कर लिया। कोतवाल स्याना किरनपाल सिंह ने बताया कि वीडियो फुटेज के आधार पर इनके नाम प्रकाश में आए थे। इनसे कोई बरामदगी नहीं हुई है। उधर, स्याना कोतवाली पुलिस ने महाव और नयागांव में गोकशी में प्रकाश में आए मुख्य आरोपी नदीम पुत्र बाबू खां निवासी मोहल्ला चौधरियान, रहीस पुत्र इलियास निवासी मोहल्ला अकबराबाद और काला पुत्र बाबू कुरैशी निवासी मोहल्ला पूडावाला स्याना को गिरफ्तार कर लिया। इनका एक साथी हारुन पुत्र खान मोहम्मद निवासी मो. कैथवाला स्याना भाग निकला। इनसे नदीम की लाइसेंसी बंदूक, गंडासा और कार बरामद हुई है। आरोप है कि यह गोकशी करने से पहले गायों को गोली मारते थे फिर कटान करते थे। उधर, मंगलवार को कांग्रेस के वरिष्ठ नेता आरपीएन सिंह ने चिंगरावठी में सुमित के परिजनों से मिलकर पूरे मामले की जानकारी ली। उन्होंने इस मामले में कांग्रेस हाईकमान तक पहुंचाकर न्याय दिलाने का भरोसा दिया। सीएम से मिले बुलंदशहर के चार विधायक हिंसा मामले को लेकर स्याना विधायक देवेन्द्र लोधी, बुलंदशहर विधायक वीरेन्द्र सिरोही, डिबाई विधायक डा. अनीता राजपूत, खुर्जा विधायक विजेंद्र खटीक लखनऊ में मंगलवार को मुख्यमंत्री से मिले। घटना से सीएम को अवगत कराया। मुख्यमंत्री ने आश्वासन दिया कि उक्त घटना के संबंध में निस्तारण किया जाएगा और कोई निर्दोष व्यक्ति जेल नहीं भेजा जाएगा। विधायकों ने गोकशी के मामले में सख्त कार्रवाई की मांग भी की।
View More

24x7 HELP

Visitor
अब तक देखा गया