आगरा: दोस्त को बंधक बना छात्रा से किया था गैंगरेप, ऐसे दिया वारदात को अंजाम

Updated on: 20 June, 2019 11:25 PM
पोइया घाट मार्ग पर बीटेक छात्रा से गैंगरेप की घटना पुलिस ने सुलझा ली है। दयालबाग के गांव बहादुरपुर के युवकों ने वारदात को अंजाम दिया था। दो गिरफ्तार हो गए हैं। दो भाग गए हैं। छात्रा का अपहरण भगवान टॉकीज से नहीं हुआ था। वह अपने दोस्त के साथ घूमने गई थी। सुनसान स्थान पर बाइक पर आए चार युवकों ने उन्हें दबोच लिया था। दोस्त को बंधक बनाकर छात्रा के साथ दुष्कर्म किया था। न्यू आगरा क्षेत्र निवासी बीटेक छात्रा ने गैंगरेप की शिकायत की थी। बताया था कि मंगलवार की शाम स्कूटर से घर लौटते समय दो युवकों ने अगवा किया था। उसे पोइया घाट मार्ग पर ले गए थे। वहां दो युवक और आ गए थे। छात्रा जख्मी हालत में घर लौटी थी। एसएसपी अमित पाठक के निर्देश पर रातभर दबिश चलीं। सुबह होते-होते घटना खुल गई। पुलिस ने बहादुरपुर निवासी रोहित निषाद और कन्हैयालाल निषाद को गिरफ्तार किया है। मुकेश और खिन्नी फरार हैं। छानबीन में पता चला कि पीड़िता की कमला नगर निवासी एक युवक से दोस्ती है। दोनों इंटर में साथ पढ़ते थे। छात्रा अपने दोस्त के साथ डीपीएस मार्ग की तरफ घूमने गई थी। वहां सुनसान में लवर्स प्वाइंट है। दोनों उस जगह को देखने गए थे। एक ही स्कूटर पर थे। अचानक वहां बाइक सवार चार युवक आ गए। दो युवकों ने युवक को दबोचा और दो ने छात्रा को पकड़ लिया। पहले युवक को बेरहमी से पीटा। उसका मोबाइल छीन लिया। सिम निकालकर तोड़ दी। दो युवक छात्रा को उठाकर खेत में ले गए। वहां उसके साथ दुराचार किया। आरोपित छात्रा को जख्मी हालत में झाड़ियों में फेंक गए थे। जाते समय धमकी देकर गए कि किसी से शिकायत की तो जान से मार देंगे। भागने से पहले आरोपियों ने छात्रा के कुंडल भी लूट लिए थे। छात्रा जख्मी हालत में घर लौटी। दोस्त भी साथ था। वह अपने घर चला गया। उसने अपने घर पहुंचकर यह बताया कि उसके साथ लूट हुई थी। बदमाशों ने मारपीट करके मोबाइल लूट लिया। वहीं छात्रा ने रेप की बात बताई। परिजन नाराज नहीं हो इसलिए दोनों ने यह छिपाया कि साथ थे। निर्भया कांड की तर्ज पर दिखाया दुस्साहस दिल्ली में निर्भया के साथ चलती बस में घटना हुई थी। वह अपने दोस्त के साथ थी। दरिंदों ने दोस्त को मारपीट करके चलती बस से फेंक दिया था। दयालबाग में डीपीएस मार्ग के पास मंगलवार की शाम युवकों ने कुछ ऐसा ही दुस्साहस दिखाया। युवक-युवती की किस्मत थोड़ी अच्छी थी। आरोपियों को यह आशंका नहीं थी कि मामला पुलिस तक पहुंचेगा। आभास भी होता तो वे दोनों को जान से मार देते। डीपीएस मार्ग पर कुछ मीटर चलने के बाद उल्टे हाथ पर एक सड़क जा रही है। दोनों तरफ प्लाट हैं। खाली पड़े हैं। करीब सौ मीटर आगे खेत है। वहां लोहे का गेट लगा है। सड़क भी ज्यादा चौड़ी नहीं है। यह जगह सुनसान रहती है। युवक-युवतियों को यह जगह ज्यादा रास आती है। कोई रोक-टोक करने वाला नहीं होता। वसूली के चक्कर में लवर्स प्वाइंट के पास घूमते थे बहादुरपुर के कुछ युवकों ने गैंग बना रखा है। वे इस जगह के आस-पास मंडराते रहते हैं। जब भी मौका मिलता है युवक-युवती को पकड़ लेते थे। उनके साथ मारपीट करते हैं। लूटपाट करते हैं। युवती के साथ हद दर्जे की बदसलूकी से भी नहीं बाज आते। पूर्व में ऐसी कई घटनाएं हुई हैं। बदनामी और शर्मिंदगी के चलते युवतियां खामोश रहती हैं। घरवालों को पता चल जाएगा इस कारण युवक भी थाने तक नहीं पहुंचते हैं। आरोपित इसी बात का लंबे समय से फायदा उठा रहे थे। बीटेक छात्रा मंगलवार को दोस्त के साथ इस जगह पहली बार गई थी। देखने गए थे कि आखिर ऐसी क्या बात है जो लड़के-लड़कियां उधर ज्यादा जाते हैं। उन्हें सपने में भी यह उम्मीद नहीं थी कि वहां दरिंदे उनका इंतजार कर रहे हैं।
View More

24x7 HELP

Visitor
अब तक देखा गया