हम पप्पू यादव हैं न जनाब छोड़ेंगे थोड़ी किसी को: पप्पू यादव

Updated on: 20 July, 2019 01:41 PM

रामगढ़ के बडौरा मे दलित की 18 वर्षीय बेटी शशिकला की मौत लोगों के लिए बिल्कुल पहेली बन चुकी है. इसी सिलसिले मे पीड़ित परिवार को सांत्वना देनें पहंचे जन अधिकार पार्टी के राष्ट्रिय संरक्षक सह सांसद पप्पू यादव से मीडिया के तरफ से सवाल किए जाने पर की आप क्या करेंगे सर, तब सांसद पप्पू यादव ने कहा की दोषी चाहें जो हो छोड़ेंगे नहीं पप्पू यादव नाम है मेरा. पुर्व प्रत्याशी रामगढ़ के बाबर खां ने बताया की सांसद पप्पू यादव जी के तरफ से हाईकोर्ट मे इस मामलें को लेकर पी.आइ.एल दर्ज किया किया जा चुका है लेकिन जनता के मांग पर दूध का दूध पानी का पानी हो जाएं इसलिए सम्बंधित अधिकारियों की नार्को टेस्ट की जरूरत है.
अब पप्पू यादव की इस लड़ाई मे सीधी तौर पर कूद जाने पर बिहार सरकार के  मुख्यमंत्री नीतिश कुमार भी इस मामलें को काफी गंभीरता से लेते हुए बिहार सरकार के परिवहन मंत्री सह जिला प्रभारी संतोष निराला को भी इस मामलें को लेकर पुरी जानकारी के लिए कैमूर भेजा. मंत्री निराला से असंतुष्ट ग्रामीणों ने बताया की हम सभी कई सालों से दबंगों से परेशान हैं कुछ लोग गांव तक छोड़ दिए लेकिन अभी तक कोई नेता संज्ञान नहीं लिया. ग्रामिणों के इस मांग को लेकर पप्पू यादव अब आर-पार की लड़ाई लड़ने के मूड मे हैं.


इससे पुर्व पप्पू यादव ने कैमूर के ही मोहनीया प्रखंड के भोखरी गांव के स्व राहुल सिंह की भी लड़ाई सुप्रीमकोर्ट तक लड़कर दोषियों को सलाखों तक पहुचाई थी. बिगत साल पहले जस्टिस फॉर राहुल के बैनर तले फ्रेंड्स ऑफ राहुल के लोगों ने शाहाबाद प्रभारी सह प्रदेश महासचिव लाल साहब यादव के माध्यम से गुहार लगाई थी. पीड़ितो का दावा था की26 वर्षीय राहुल सिंह दिल्ली से अपने घर चला था उसी क्रम मे रेलवे के अधिकारियों से कहासुनी के बाद मारपीट के क्रम मे उनकी मौत हो हो गयी और लाश पटरी के किनारे फेंक दिया गया था. इस मामलें को लेकर देश के प्रधानमंत्री से लेकर गृह मंत्री एवम उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ तक गुहार लगा चूके थे, न्याय की आश छोड़ चूके परिजनों ने तब पप्पू यादव से ही न्याय दिलाने की आश मे थे.

24x7 HELP

Visitor
अब तक देखा गया