कुंभ में VHP के धर्म संसद अधिवेशन का आज दूसरा दिन, उठेगा राम मंदिर का मुद्दा

Updated on: 21 April, 2019 04:23 PM
कुंभ मेला क्षेत्र में आयोजित विश्व हिन्दू परिषद के धर्म संसद अधिवेशन में गुरुवार को पहले दिन राम मंदिर मुद्दे पर चर्चा नहीं हो सकी। अधिवेशन के पहले दिन केवल दो प्रस्ताव सबरीमाला मंदिर पर राष्ट्रीय अभियान चलाने और विघटनकारी शक्तियों के खिलाफ आंदोलन चलाने का प्रस्ताव पारित किया गया। राम मंदिर मुद्दे पर शुक्रवार को अधिवेशन के दूसरे दिन शुक्रवार दोपहर एक बजे से चर्चा होगी। जैसा कि माना जा रहा था कि पहले दिन ही राममंदिर निर्माण पर चर्चा होगी और धर्म संसद राममंदिर पर कुछ बड़ा बयान जारी करेगी, लेकिन ऐसा हुआ नहीं। अधिवेशन शुरू होने के साथ ही राम मंदिर मुद्दे पर दूसरे दिन चर्चा की बात कही गई। पहले दिन के अधिवेशन में जूना पीठाधीश्वर स्वामी अवधेशानंद गिरि नहीं दिखाई दिए। इसके साथ ही गत वर्ष मंचासीन रहे अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि, महामंत्री महंत हरिगिरि और दूसरे अखाड़ों के प्रमुख सदस्य नहीं दिखाई दिए। हालांकि महामंडलेश्वरों को जरूर थे। जैसे जूना अखाड़े की कानपुर की महामंडलेश्वर योग योगीश्वरी यति, महामंडलेश्वर महेशानंद आदि प्रमुख संत यहां पर मौजूद थे। पिछले साल मंच पर सभी अखाड़ों के संत मौजूद रहे। शंकराचार्य के बयान के बाद बड़ी तैयारी राममंदिर मुद्दे पर बुधवार द्वारकाशरदापीठ के शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती के बयान के बाद माना जा रहा है कि विहिप के दूसरे दिन के अधिवेशन में बड़ा बयान जारी हो सकता है। इसी की तैयारी की जा रही है। ऐसे में विश्व हिन्दू परिषद ने अपने सबसे प्रमुख मुद्दे राम मंदिर, गो और गंगा को पहले दिन नहीं उठाया। दूसरे दिन इस प्रकरण पर चर्चा की जाएगी।
View More

24x7 HELP

Visitor
अब तक देखा गया