महाराष्ट्र में शिवसेना के साथ मिलकर चुनाव लड़ सकती है जदयू

Updated on: 21 February, 2019 12:00 AM
चुनावी रणनीतिकार और बिहार में सत्तारूढ़ जदयू के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर ने मंगलवार को शिव सेना प्रमुख उद्धव ठाकरे से मुंबई स्थित उनके आवास पर मुलाकात की। उन्होंने शिवसेना प्रमुख को उनके साथ महाराष्ट्र में जदयू द्वारा सहयोग की पेशकश भी की। प्रशांत किशोर की इस पहल से माना जा रहा है कि सबकुछ अनुकूल रहा तो जदयू महाराष्ट्र में चुनाव मैदान में भी उतर सकता है। मुलाकात के बाद प्रशांत किशोर ने ट्वीट कर उद्धव ठाकरे को उनके शानदार मेहमानवाजी के लिए धन्यवाद दिया। प्रशांत किशोर ने कहा कि एनडीए के घटक दल होने के नाते हम महाराष्ट्र में आपके साथ हाथ मिलाना चाहते हैं। ताकि आने वाले लोकसभा चुनाव में महाराष्ट्र में जीत सुनिश्चित करने में हम सहयोग कर सकें और लोकसभा चुनाव के आगे भी हमलोगों का साथ बना रहे। प्रशांत इस दौरान उद्धव ठाकरे के साथ करीब डेढ़ घंटे रहे। इस दौरान उद्धव के बेटे आदित्य ठाकरे भी थे। यह भी बताया जा रहा है कि प्रशांत किशोर को महाराष्ट्र में एनडीए के बीच होने वाली सीटों के बंटवारे के लिए मध्यस्थता की भूमिका निभाने को भेजा गया है। शिवसेना के चुनावी रणनीतिकार बनेंगे प्रशांत किशोर इस बैठक में शामिल एक शिवसेना सांसद ने बताया कि शिवसेना प्रमुख के साथ हुई बैठक में यह तय किया गया कि चुनाव में पार्टी के लिए प्रशांत किशोर रणनीति बनाएंगे। इस दौरान प्रशांत किशोर ने शिवसेना सांसदों से मुलाकात भी की। शिवसेना के सांसद ने बताया कि किशोर की टीम एक प्रस्ताव तैयार कर इस सप्ताह के अंत में एक बार फिर से उद्धव से मुलाकात कर सकती है। शिवसेना का यह कदम ऐसे समय में आया है जब भाजपा के साथ गठबंधन को लेकर कोई स्पष्टता नहीं है। वहीं बैठक में मौजूद शिवसेना सांसद ने बताया कि भाजपा के साथ गठबंधन बैठक के एजेंडे में नहीं था। पहली बार रणनीतिकार की मदद यह पहली बार है जब शिवसेना चुनावी रणनीति बनाने के लिए एक निजी रणनीतिकार की मदद ले रही है और सर्वेक्षण करा रही है। गौरतलब है कि अभी तक सेना अपने यूनियन स्थानीय लोकाधिकार समिति और युवा सेना पर भरोसा करती रही है। संजय राउत ने शिष्टाचार भेंट बताया वहीं शिवनेता नेता संजय राउत ने मीडिया को बताया कि प्रशांत किशोर और उद्धव ठाकरे के बीच मुलाकात एक शिष्टाचार भेंट है न कि राजनीतिक। संजय राउत ने कहा कि प्रशांत किशोर भाजपा के एक घटक दल के नेता हैं। उन्होंने उद्धवजी से मुलाकात की है। दोनों के बीच मुलाकात सिर्फ शिष्टाचार के तहत हुई है। राजनीतिक रणनीतिकार प्रशांत किशोर को राजनीतिक रणनीतिकार माना जाता है। 2014 में भाजपा को जिताने में उनकी महत्वपूर्ण भूमिका मानी जाती है। इसके बाद कुछ दिन के लिए प्रशांत किशोर ने कांग्रेस के लिए भी काम किया। इसके बाद वह नीतीश कुमार के जदयू के साथ जुड़ गए। बिहार विधानसभा चुनाव में नीतीश कुमार के लिए पूरी रणनीति तैयार की। वर्तमान में प्रशांत किशोर जदयू के उपाध्यक्ष हैं।
View More