पुलवामा टेरर अटैक : ‘ऑपरेशन ऑल आउट’ से बौखलाए दहशतगर्द

Updated on: 12 November, 2019 05:04 AM

सेना द्वारा घाटी में वर्ष 2017 से चलाए जा रहे ऑपरेशन ऑल आउट से दहशतगर्द बौखला गए है। कई आतंकी संगठनों के प्रमुख कमांडर के मारे जाने के बाद से घाटी में सक्रिय अन्य आतंकी संगठनों में डर का माहौल है। इसलिए आतंकी जवानों को निशाना बना रहे है। आइए जानते हैं कि सेना ने कब-कब बड़े आतंकियों को मार गिराया।

1 जुनैद मट्टू : दिसंबर 2016 में उसे कुलगाम जिले का लश्कर प्रमुख नियुक्त किया गया था। 16 जून, 2017 को अनंतनाग में मुठभेड़ में वह मारा गया।

2 बशीर अहमद वानी: 16 जून, 2017 को छह पुलिसकर्मियों की शहादत की घटना का मास्टरमाइंड, 1 जुलाई 2017 को मुठभेड़ में मार गिराया गया

3 वसीम शाह उर्फ वसीम मल्ला : लश्कर के लिए एक कूरियर बॉय के रूप में काम करता था। वह घाटी में कई हमलों में शामिल था। वसीम 13 अक्टूबर 2017 की मुठभेड़ में ढेर।

4 सद्दाम पद्दर : बुरहान वानी की तरह दिखने के कारण आतंकियों में मशहूर था। एक साल में हिजबुल का का बड़ा आतंकी बन गया। 6 मई, 2018 को वह बडगाम इलाके मारा गया।

5 अबू हमास: जैश-ए-मोहम्मद का डिवीजनल कमांडर था, लेकिन बाद में जाकिर मूसा से हाथ मिला लिया। 17 मार्च 2018 को एक मुठभेड़ में वह मारा गया।

6 अबू दुजाना : दुजाना एक पाकिस्तानी आतंकी था। 1 अगस्त 2017 को पुलवामा जिले के हकरीपोरा इलाके में अपने साथी के साथ मारा गया।

7 अल्ताफ अहमद कचरू: हिजबुल का सबसे पुराना ऑपरेटिव कमांडर था। 29 अगस्त 2018 को अनंतनाग जिले में मारा गया।

8 मोहम्मद यासीन : जुलाई 2016 को बुरहान वानी की मौत के बाद हिजबुल का डिवीजनल कमांडर बना था। 14 अगस्त 2017 को मारा गया।

9 शौकत अहमद टाक: पाक के लिए घाटी में एक बड़ा संपर्क था। 5 मई 2018 को श्रीनगर के छत्ताबल इलाके में सेना के साथ मुठभेड़ में मारा गया था।

10 जीनत-उल-इस्लाम : अलबद्र का आईईडी विशेषज्ञ आतंकी इसी साल 12 जनवरी को ढेर हो गया।.

View More

24x7 HELP

Visitor
अब तक देखा गया