जाम में फंसी प्रधानमंत्री की डमी फ्लीट

Updated on: 20 October, 2019 12:36 PM
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की सुरक्षा का ग्रैंड रिहर्सल सोमवार को किया गया। पुलिस लाइन में एडीजी सुरक्षा विजय कुमार ने पुलिस अधिकारियों की ब्रीफिंग ली। कहा, पीएम की सुरक्षा में कोई रियायत न बरती जाए। संगठन हो या पदाधिकारी सबकी सघनता से जांच हो। सुरक्षा के मानकों को पूरा करने में लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। उन्होंने सख्त निर्देश दिया कि जब पीएम की फ्लीट गुजरे तो बगल से भी कोई वाहन नहीं निकलना चाहिए। साथ ही सभा स्थल पर जाने वाले लोगों की भी जांच होनी। कोई भी यदि विरोध करता है तो उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई करें। एडीजी जोन पीवी रामा शास्त्री ने कहा कि ड्यूटी के दौरान सतर्क रहें और अपने अधिनस्थों को भी सतर्क रखें। यदि कोई भी अधिकारी या पुलिसकर्मी ड्यूटी प्वाइंट से इधर-उधर मिला तो उसके खिलाफ विभागीय कार्रवाई होगी। ब्रीफिंग के बाद सभी अधिकारी अपने-अपने ड्यूटी प्वाइंट गए और अधिनस्थों को उनकी जिम्मेदारी बताईं। इस दौरान कमिश्नर दीपक अग्रवाल, आईजी विजय सिंह मीना, डीएम सुरेन्द्र सिंह, एसएसपी आनंद कुलकर्णी, एसपी सिटी दिनेश सिंह, एसपी ग्रामीण एमपी सिंह, एसपी क्राइम ज्ञानेन्द्र नाथ प्रसाद समेत बड़ी संख्या में पुलिस अधिकारी मौजूद रहे। प्रधानमंत्री पर हमले की आशंका पर बढ़ाई गई सुरक्षाकश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले के बाद प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर खतरा है। इसको देखते हुए एसपीजी ने सुरक्षा और कड़ी कर दी गई है। इसके लिए पुलिसकर्मियों की संख्या में बढ़ोत्तरी की गई है। अब सुरक्षा की जिम्मेदारी एसपीजी के निर्देशन में एडीजी सुरक्षा विजय कुमार की होगी। वहीं 25 एसपी अलग-अलग प्वाइंटों पर कमान संभालेंगे। इसके अलावा 58 एडीशनल एसपी, 70 डीएसपी, एक हजार इंस्पेक्टर, दरोगा लगाए जाएंगे, पांच हजार कांस्टेबल लगेंगे। इसके अलावा अलग से 22 कंपनी पैरामिलिट्री फोर्स, 10 कंपनी पीएसी समेत कुल 10 हजार से अधिक जवान सुरक्षा में लगेंगे। तीन मार्गों पर फ्लीट का हुआ रिहर्सल प्रधानमंत्री की सुरक्षा के मद्देनजर बीएचयू से रविदास मंदिर, पुलिस लाइन से बाबतपुर एयरपोर्ट, डीरेका से औढ़े सभा स्थल तक फ्लीट का रिहर्सल किया गया। फ्लीट निकलने से 10 मिनट पहले एलर्ट जारी कर दिया गया। ट्रैफिक पुलिस ने फ्लीट गुजरने वाले मार्गों को सील कर दिया। बम निरोधक दस्ते ने पूरे रास्ते की जांच की, फिर सुरक्षा अधिकारियों की अगुवाई में प्रधानमंत्री की गाड़ी निकली और अपने गन्तव्य स्थल पर पहुंची। एकाएक ट्रैफिक रोके जाने और वाहनों का काफिला गुजरने पर लोग चर्चा करने लगे कि कौन जा रहा है। रिहर्सल के दौरान कई बार फ्लीट जाम में भी फंसी। वहीं एयरपोर्ट पर सिक्योरिटी बढ़ा दी गई है। आने-जाने वाले यात्रियों की गहनता सघन जांच की जा रही है।ट्रायल में नहीं उतर सका हेलीकॉप्टर, कटवाए पेड़औढ़े में टच एंड गो ट्रायल के दौरान एक हेलीपैड पर तो हेलीकॉप्टर उतर गया, लेकिन दो हेलीपैड पर हेलीकॉप्टर नहीं उतर सका। कारण आसपास के पेड़ और धूल उड़ने से नीचे दबाव बनना था। हेलीकॉप्टर उतारे जाने के दौरान सड़क पर लोगों की भीड़ लग गई, जिससे आवागमन प्रभावित होने लगा। पुलिस ने तत्काल लोगों को हटवाया। बाद में अधिकारियों के निर्देश पर समस्या का समाधान किया गया। वहीं सेना के तीन हेलीकॉप्टर बारी बारी से डीएलडब्ल्यू मैदान पर बनाए गए हेलीपैडों पर उतारा गया। इसके अलावा एयरपोर्ट पर भी हेलीकॉप्टर की लैंडिंग की गई।
View More

24x7 HELP

Visitor
अब तक देखा गया