पुलवामा हमला: केंद्र सरकार ने 18 और हुर्रियत नेताओं की सुरक्षा हटाई

Updated on: 16 September, 2019 02:51 AM
पुलवामा आतंकी हमले के बाद मोदी सरकार ने बुधवार को एक और बड़ा कदम उठाया। केंद्र सरकार ने अब 18 और हुर्रियत नेताओं की सुरक्षा हटाई है और कई की सुरक्षा कम कर दी गई है। इसके अलावा जम्मू-कश्मीर के 155 राजनीतिक व्यक्तियों की भी सुरक्षा में बदलाव किया गया है। गृह मंत्रालय की ओर से सुरक्षा हटाए जाने या कम करने को लेकर अधिसूचना जारी कर दी गई है। इससे पहले सरकार ने चार अलगाववादी नेताओं की सुरक्षा हटाई थी। जिन नेताओं की सुरक्षा हटाई या कम की गई है उनमें एसएएस गिलानी, आगा सैयद मोसवी, मौलवी अब्बास अंसारी, यासीन मलिक, सलीम गिलानी, शाहिद उल इस्लाम, जफर अकबर बट, नईम अहमद खान, मुख्तार अहमद वाजा, फारूक अहमद किचलू, मसरूर अब्बास अंसारी, आगा सैयद अबुल हुसैन, अब्दुल गनी शाह और मोहम्मद मुसद्दिक बट शामिल हैं। इसके अलावा 155 राजनीतिक व्यक्तियों और कार्यकर्ताओं की भी सुरक्षा में बदलाव किया गया है। इसमें शाह फैसल भी शामिल हैं, जिन्होंने आईएस से इस्तीफा देकर नेशनल कॉन्फ्रेंस पार्टी में शामिल हुए हैं। गृह मंत्रालय के मुताबिक, इन हुर्रियत नेताओं और राजनीतिक व्यक्तियों की सुरक्षा में 1000 से अधिक पुलिसकर्मी और 100 से अधिक सरकारी गाड़ियां लगी हुई थीं, जो अब वापस ले ली गई हैं।
View More

24x7 HELP

Visitor
अब तक देखा गया