पुलवामा हमला: केंद्र सरकार ने 18 और हुर्रियत नेताओं की सुरक्षा हटाई

Updated on: 21 April, 2019 04:24 PM
आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे पर स्थित औरास थाना क्षेत्र के रानी खेड़ा गांव के पास गुरुवार सुबह सवारियों से भरी एक बस अनियंत्रित होकर पलट गई। इस हादसे में 3 महिला और 2 बच्चों समेत छह लोगों की मौत हो गई। जबकि एक दर्जन लोगों की हालत गंभीर है बाकी को प्राथमिक उपचार के बाद घर भेज दिया गया है। घायलों का उपचार लखनऊ ट्रामा सेंटर में चल रहा है। मरने वालों की अभी शिनाख्त नहीं हो सकी है। सड़क पर पड़े प्लास्टिक पाइप पर बस फिसलने से हादसा हुआ। बुधवार की देर रात रानी खेड़ा के पास आगरा से लखनऊ की ओर आ रही पाइप लदी डीसीएम अनियंत्रित होकर पलट गई। जिस वजह से डीसीएम में भरी पाइप सड़क पर बिखर गई। पाइप कई घंटे तक सड़क पर ही पड़ी रही लेकिन यूपीडा कर्मियों ने रास्ते से पाइप को नहीं हटाया। देर रात 2 से 3 बजे के बीच करीब सवारियों को लेकर लखनऊ की ओर जा रही तेज रफ्तार बस पाइप पर फिसलने की वजह से अनियंत्रित होकर पलट गई। अपर एसपी विनोद पांडे ने बताया कि हादसे में तीन महिलाओं, दो बच्चों और एक पुरूष की मौत हो गई है। करीब 4 से 5 दर्जन लोग जख्मी हुए थे जिनमें एक दर्जन की हालत गंभीर होने पर लखनऊ ट्रामा सेंटर में भर्ती कराया गया है। रेस्क्यू ऑपरेशन चला कर रास्ते को खाली कराया गया है और मामूली रूप से घायलों को उनके घर तक भिजवाया गया है। घायलों में कई की हालत गंभीर है। उनका कहना है कि मरने वालों की संख्या और भी बढ़ सकती है। ट्रामा सेंटर में पुलिस तैनात है। मामले की कराएंगे जांच होगी कार्रवाई: डीएम डीएम देवेंद्र पांडे ने घटना पर दुख प्रकट करते हुए कहा कि अगर यूपीडा कर्मियों की तरफ से डीसीएम पलटने के बाद रेस्क्यू ऑपरेशन में लापरवाही की गई है तो इसकी जांच कराई जाएगी। शासन को मामले से अवगत कराऊंगा। लापरवाही करने वालों को नहीं छोड़ा जाएगा।
View More

24x7 HELP

Visitor
अब तक देखा गया