करतारपुर समझौते के लिए भारत आएगा पाक दल, क्या तनाव होगा कम?

Updated on: 20 March, 2019 11:52 PM
पाकिस्तान ने मंगलवार को भारत को जानकारी दी कि उसका प्रतिनिधिमंडल करतारपुर गलियारे के मसौदा समझौते पर चर्चा के लिए 14 मार्च को नई दिल्ली के दौरे पर आएगा। इस कदम को दोनों पड़ोसी देशों के बीच तनाव करने में मददगार सकारात्मक घटनाक्रम माना जा रहा है। एक बयान के अनुसार, विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता मोहम्मद फैसल ने इस फैसले से अवगत कराने के लिए भारत के कार्यवाहक उच्चायुक्त गौरव अहलुवालिया को विदेश मंत्रालय बुलाया। बयान में कहा गया, करतारपुर गलियारे के मसौदा समझौते पर चर्चा के लिए पाकिस्तानी प्रतिनिधिमंडल 14 मार्च 2019 को नई दिल्ली के दौरे पर जाएगा जिसके बाद भारतीय प्रतिनिधिमंडल 28 मार्च 2019 को इस्लामाबाद का दौरा करेगा। फैसल ने भारतीय राजदूत को जानकारी दी कि भारत में पाकिस्तान के उच्चायुक्त सोहैल महमूद इस्लामाबाद में सलाह मशविरे के बाद नई दिल्ली लौटेंगे। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान सैन्य अभियान निदेशालय स्तर पर साप्ताहिक संपर्क जारी रखने के लिए प्रतिबद्ध है। यह सकारात्मक घटनाक्रम ऐसे समय हुआ जब पाकिस्तान ने जैश ए मोहम्मद सहित अन्य प्रतिबंधित आतंकी संगठनों के खिलाफ कार्रवाई शुरू की है। भारत और पाकिस्तान, पाकिस्तान के करतारपुर से भारत के गुरदासपुर जिले स्थित डेरा बाबा नानक गुरुद्वारे तक विशेष कारिडोर खोलने पर सहमत हुए हैं। करतारपुर में ही गुरु नानक देव जी ने जीवन का अंतिम समय बिताया था। समझौता एक्सप्रेस सेवा शुरू पाकिस्तानी अधिकारियों ने लाहौर और दिल्ली के बीच समझौता एक्सप्रेस सेवा को सोमवार को बहाल कर दिया। यह ट्रेन मंगलवार को दिल्ली पहुंचीं। द्विपक्षीय संबंधों में तनाव के कारण यह सेवा कुछ दिनों से निलंबित थी। यह ट्रेन लाहौर से सोमवार और गुरुवार को चलती है। इस ट्रेन में करीब 150 यात्रियों के साथ समझौता एक्सप्रेस लाहौर से भारत के लिए रवाना हुई। समझौता एक्सप्रेस में 6 शयनयान डिब्बे और एक एसी 3 टियर डिब्बा है। दोनों देशों के बीच 1971 के युद्ध को सुलझाने वाले शिमला समझौता के तहत 22 जुलाई 1976 को यह ट्रेन सेवा शुरू की गई थी।
View More