विदेश मंत्रालय ने कहा- भारत सरकार को पता है कि नीरव मोदी लंदन में है

Updated on: 20 March, 2019 11:53 PM
पीएनबी से करीब 13,500 करोड़ रुपये के बैंक लोन की धोखाधड़ी केस में वांछित नीरव मोदी के लंदन में रहने की मीडिया रिपोर्टस पर भारत सरकार ने शनिवार को कहा कि उन्हें पहले से ही पता है कि वह ब्रिटेन में रह रहा है। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने संवाददाताओं को संबोधित करते हुए कहा कि नीरव मोदी के प्रत्यर्पण के लिए सभी आवश्यक कदम उठाए जा रहे हैं। भारत सरकार की तरफ से नीरव मोदी के प्रत्यर्पण का अनुरोध अभी उनके (यूके सरकार) के विचाराधीन है। रवीश कुमार ने कहा कि नीरव मोदी के वापस लाए जाने के लिए जो भी कदम उठाने की जरूरत होगी वह किया जाएगा। गौरतलब है कि नीरव मोदी के पीएनबी धोखाधड़ी केस में मनीलांड्रिंग की जांच ईडी कर रही है। टेलिग्राफ की रिपोर्ट के मुताबिक नीरव मोदी जैकेट पहने हुए लंदन में घूम रहा था जिसकी कीमत करीब 9 लाख रुपये है। रिपोर्ट के मुताबिक पीएनबी घोटाले का आरोपी नीरव मोदी लंदन के वेस्ट एंड इलाके में रह रहा है और डायमंड बिजनेस चला रहा है। वह वीडियो में लगातार नो कमेंट कहता हुआ नजर आ रहा है। भारतीय अफसरों ने नीरव के खाते फ्रीज कर दिए हैं। इंटरपोल ने उसकी गिरफ्तारी के लिए रेड कॉर्नर नोटिस जारी किया है। शुक्रवार को नीरव मोदी के महाराष्ट्र के रायगढ़ के अलीबाग में बंगले को विस्फोटक लगाकर ढहा दिया है। रायगढ़ जिले के कलेक्टर विजय सूर्यवंशी ने नीरव मोदी के बंगले को ढहाने की जानकारी दी। वरिष्ठ आईएएस अधिकारी ने कहा कि बंगले को ढहाने का काम नियंत्रित तरीके से किया गया। ये कार्रवाई ईडी के प्रॉपर्टी देने के बाद की गई। ये प्रॉपर्टी रायगढ़ जिले से 90 किलोमीटर दूर है। नीरव मोदी के खिलाफ 15 फरवरी 2018 को सीबीआई ने केस दर्ज किया था। ईडी ने सीबीआई द्वारा दर्ज की गई एफआईआर के आधार पर पिछले साल 15 फरवरी को दोनों आरोपियों के खिलाफ मनी लांडरिंग का मामला दर्ज किया था। ईडी अब तक चोकसी और नीरव मोदी की 4,765 करोड़ रुपये की संपत्ति जब्त कर चुका है।
View More