मुंबई में CST के पास फुटओवर ब्रिज गिरने से 6 की मौत, 33 घायल; 10 बातें

Updated on: 17 July, 2019 12:37 AM
मुंबई में छत्रपति शिवाजी टर्मिनस (सीएसटी) रेलवे स्टेशन के पास गुरुवार शाम को फुटओवर ब्रिज (Mumbai Footover Bridge Collapse Accident) गिरने से छह लोगों की मौत हो गई। इस दौरान 33 घायल हो गए। घटना के बाद मुंबई पुलिस ने ट्वीट कर बताया कि सीएसटी के प्लेटफार्म नंबर एक उत्तर को बीटी लेन से जोड़ने वाला फुटओवर ब्रिज शाम 7:35 बजे गिर गया। घायल व्यक्तियों को अस्पताल पहुंचाया गया है। घटना के बाद यातायात पर असर पड़ा है। रोजाना सफर करने वालों को वैकल्पिक मार्ग का इस्तेमाल करने के लिए भी कहा गया। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार, हादसे के बाद ब्रिज के मलबे में कई लोग दब गए और यहां मौजूद कुछ वाहन भी क्षतिग्रस्त हुए। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि हादसे में घायल लगभग 10 लोग वार्ड में भर्ती हैं, वहीं 1 आईसीयू में है। सभी खतरे से बाहर हैं। इस मामले को गंभीरता से लेते हुए इस पर हाई लेवल जांच होगी। FIR दर्ज कर ली गई है। पढ़ें हादसे के बारे में 10 प्वाइंट्स: 1- मृतकों में गोकुलदास तेजपाल हॉस्पिटल में काम करने वाली दो नर्स अपूर्वा प्रभु और रंजना तांबे भी शामिल हैं। दोनों नर्स रात्रि पाली में काम करने के लिए अस्पताल जा रहीं थी। जबकि तीसरी महिला की पहचान भक्ति शिंदे के रूप में हुई है। इसके अलावा मृतकों में जाहिद सिराज खान और तपेंद्र सिंह भी है। 2- एक प्रत्यक्षदर्शी ने बताया कि जिस वक्त पुल का हिस्सा गिरा उस वक्त पास के चौराहे पर लाल बत्ती थी। उसने बताया कि अगर लाल बत्ती नहीं होती तो मृतकों की संख्या कहीं ज्यादा हो सकती थी। प्रत्यक्षदर्शी ने बताया कि हम लोग लाल बत्ती होने की वजह से इंतजार कर रहे थे। उसने बताया कि जब तक हरी बत्ती होती इससे पहले ही पुल गिर गया। 3- जिस जगह हादसा हुआ वहां कई बड़े सरकारी दफ्तर भी हैं। इस पुल से 500 मीटर की दूरी पर ही बीएमसी का दफ्तर स्थित है। इसके अलावा पास में ही मुंबई पुलिस का मुख्यालय और सीएएमए अस्पताल भी हैं। शाम के वक्त इस इलाके में काफी भीड़ रहती है। मुंबई में CST के पास फुटओवर ब्रिज गिरने से 6 की मौत, 33 घायल मुंबई में छत्रपति शिवाजी टर्मिनस (सीएसटी) रेलवे स्टेशन के पास गुरुवार शाम को फुटओवर ब्रिज (Mumbai Footover Bridge Collapse Accident) गिरने से छह लोगों की मौत हो गई। इस दौरान 33 घायल हो गए। 4- कांग्रेस ने मुंबई में फुटओवर पुल के ढहने की घटना पर दुख जताया और कहा कि बार-बार हो रहे इस तरह के हादसों की जिम्मेदारी लेते हुए रेल मंत्री पीयूष गोयल को इस्तीफा देना चाहिए या फिर उन्हें बर्खास्त किया जाए। 5- रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट कर कहा कि मुंबई ब्रिज हादसे के बारे में सुनकर दुख हुआ। मेरी संवेदनाएं पीड़ित परिवारों के साथ हैं। उन्होंने कहा, 'आशा करता हूं कि प्रशासन त्वरित कदम उठाएगा और घायलों को तत्काल चिकित्सा मदद मुहैया कराएगा।' 6- महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडनवीस ने हादसे पर दुख जताया। उन्होंने कहा कि इस पुल की जांच की गई थी, जिसमें इसे फिट करार दिया गया था। इसके बाद ऐसा हादसा सवाल उठाता है। इसकी उच्चस्तरीय जांच की जाएगी और दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने मृतकों को पांच लाख और घायलों को 50 हजार रुपए मुआवजे के तौर पर देने की घोषणा की है। 7- मुंबई पुलिस के मुताबिक, फुट ओवर ब्रिज सीएसएमटी के प्लेटफॉर्म नंबर एक के उत्तरी छोर को बीटी लेन से जोड़ता है। हादसे की वजह से ट्रैफिक प्रभावित हुआ। सड़क पर खड़ी कई गाड़ियां क्षतिग्रस्त हो गईं। यह पुल छत्रपति शिवाजी टर्मिनस स्टेशन को आजाद मैदान पुलिस स्टेशन से जोड़ता था। 8- भाजपा विधायक राज पुरोहित ने कहा कि यह दुखद घटना है। इस पुल की जांच के दौरान प्रमाणपत्र देने वाले इंजीनियर के खिलाफ कार्रवाई की जाए और उसे गिरफ्तार किया जाए। महाराष्ट्र के मंत्री विनोद तावड़े ने कहा कि रेलवे और बीएमसी इस हादसे की जांच करेंगे। उन्होंने कहा कि पुल की हालत खराब नहीं थी। 9- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि मुंबई फुट ओवरब्रिज दुर्घटना से काफी दुख पहुंचा है। मेरी संवेदना शोक संतप्त परिवारों के साथ है। मेरी कामना है कि घायल जल्द से जल्द ठीक हो जाएं। महाराष्ट्र सरकार प्रभावित लोगों को हर संभव सहायता प्रदान करने की पूरी कोशिश में जुटी है। 10- मुंबई में नौ महीने के अंदर पुल ढहने की यह दूसरी घटना है। 3 जुलाई 2018 में मुंबई में भारी बारिश की वजह से अंधेरी स्टेशन के करीब एक फुट ओवरब्रिज का हिस्सा गिर जाने से पश्चिमी लाइन पर लोकल ट्रेनों की आवाजाही कुछ देर के लिए ठप हो गई थी। इस हादसे में दो लोगों की मौत हो गई थी जबकि पांच लोग घायल हुए थे।
View More

24x7 HELP

Visitor
अब तक देखा गया