UP: टेरर फंडिंग के लिए खाते में भेजे गए एक करोड़, दिल्ली से जुड़े तार

Updated on: 26 June, 2019 06:21 AM
गोरखपुर में कोतवाली पुलिस ने टेरर फंडिंग के शक में एक गिरोह को पकड़ा है। एडी तिराहे पर एटीएम से पकड़े गये गिरोह के एक सदस्य के कब्जे से 32 एटीएम कार्ड बरामद हुए हैं। छानबीन में पता चला है कि गिरोह के दिल्ली के खाते में शुक्रवार को एक करोड़ चार लाख रुपये ट्रांसफर हुए हैं, जिसमें रोज सात से आठ लाख रुपये एटीएम कार्ड के द्वारा गोरखपुर से भेजे जाते थे। कई शहरों से उस खाते में रुपये भेजे जाने की जानकारी हुई है। पकड़े गए संदिग्ध के दो साथी फरार हैं। पकड़ा गया संदिग्ध मूलत: बिहार के बेतिया का रहने वाला है। उसका नाम गंगा कुमार है। वह दिल्ली के जिस खाते में रकम भेजता था वहां से रुपये मुंबई भेजे जाते थे और वहां से पाकिस्तान समेत कई अन्य देशों में। ऐसे में पुलिस इसे 'टेरर फंडिंग' से जुड़ा मामला मान रही है। पुलिस मामले की जांच में आयकर विभाग और खुफिया एजेंसियों की भी मदद ले रही है। बैंकों की रूटीन चेकिंग के दौरान कोतवाली पुलिस ने एडी तिराहे पर पीएनबी के एटीएम पर एक संदिग्ध युवक देखा। पूछताछ की गई तो उसके जवाब से पुलिस संतुष्ट नहीं हुई। तलाशी में उसके पास से 12 एटीएम कार्ड मिले। इस पर पुलिस ने कड़ाई की तो उसने बताया कि वह रोज सात से आठ लाख रुपये एटीएम कार्ड द्वारा दिल्ली के एक अकाउंट में ट्रांसफर करता है। पुलिस उसके हुमायूंपुर स्थित कमरे पर भी गई जहां 20 एटीएम कार्ड और मिले। उतनी ही पर्चियां भी मिलीं जो रकम दिल्ली ट्रांसफर किए जाने की गवाही दे रही थीं। 2 फीसदी कमीशन मिलता था पकड़े गए युवक ने पुलिस को बताया है कि जो रकम वे दिल्ली के अकाउंट में ट्रांसफर करते थे वह उनके अकाउंट में कहां से आती थी उन्हें नहीं पता। उनका काम था कि एटीएम कार्ड से रकम ट्रांसफर करना। इसके एवज में उन्हें 2 प्रतिशत या फिर एक लाख पर पांच हजार रुपए कमीशन मिल जाते थे। एसएसपी डॉ. सुनील गुप्ता के अनुसार, युवक से सभी बिंदुओं पर पूछताछ की जा रही है। अन्य विभागों की मदद से भी जांच कराई जा रही है। शनिवार को बैंक खुलने के बाद इसमें कुछ और प्रगति सामने आएगी।
View More

24x7 HELP

Visitor
अब तक देखा गया