कानपुरः वंदेभारत एक्सप्रेस पर फिर हुआ पथराव, टूट गए खिड़कियों के कांच

Updated on: 21 April, 2019 04:21 PM
नई दिल्ली से वाराणसी जा रही वंदेभारत एक्सप्रेस पर सरसौल स्टेशन के पास शरारती तत्वों ने पथराव कर दिया। हद तो यह कि वापसी में फिर उसी स्थान पर ट्रेन पर पथराव कर पुलिस और प्रशासन को खुली चुनौती दी गई। हाईस्पीड ट्रेन पर एक ही दिन में दो बार पथराव की सूचना से रेलवे बोर्ड तक हड़कंप मच गया। जीआरपी, आरपीएफ को तुरंत कार्रवाई के आदेश दिए गए। रेलवे बोर्ड ने उच्चस्तरीय जांच के आदेश दिए हैं।रविवार को ट्रेन तय समय पर कानपुर सेंट्रल से वाराणसी की ओर रवाना हुई। सुबह करीब 10:45 बजे सरसौल और प्रेमपुर स्टेशन के बीच खंभा नंबर 996-10-08 को पार कर रही थी तभी शरारती युवकों ने बेवजह पथराव शुरू कर दिया। फुल स्पीड ट्रेन के 10 कोचों पर पत्थर लगे, जिससे खिड़कियों के कांच टूट गए। इससे कोच के भीतर भगदड़ जैसी स्थिति बन गई। कई यात्रियों को थोड़ी देर तक पता ही नहीं चला कि आखिरकार क्या हुआ। लगभग सात मिनट बाद जब आवाजें थमीं तो गार्ड और ड्राइवर ने सेंट्रलाइज्ड अनाउंसमेंट सिस्टम के जरिए संपर्क किया। ड्राइवर ने बताया कि ट्रेन पर पत्थर फेंके गए हैं। इसके बाद कंट्रोल के जरिए कानपुर सेंट्रल को सूचना दी गई। इस पर आरपीएफ, जीआरपी और जिला पुलिस मौके पर पहुंची। ट्रैक के आसपास गांववालों से पूछताछ की पर कुछ ठोस जानकारी नहीं हुई। ट्रेन एस्कॉर्ट ने वाराणसी में अज्ञात लोगों के खिलाफ ट्रेन पर पथराव की एफआईआर दर्ज कराई है। तीन को हिरासत में लिया वापसी में वाराणसी से दिल्ली जा रही ट्रेन शाम करीब 18:23 बजे सरसौल स्टेशन के पास खंभा नंबर 996 से गुजर रही थी। इसी बीच ट्रेन पर 11 पत्थर फेंके गए। ट्रेन चालक ने रेलवे कंट्रोल रूम को सूचना दी। आरपीएफ टीम मौके के लिए रवाना की गई। इसके चलते कानपुर सेंट्रल से ट्रेन 27 मिनट लेट पास हुई। जीआरपी ने सुबह हुए पथराव में राजेश, सोनू और मोनू नामक युवक को हिरासत में ले लिया है। तीनों से पूछताछ चल रही है। महीनेभर में चार बार पथराव देश की सबसे तेज चलने वाली इंजन रहित वंदेभारत एक्सप्रेस का संचालन 17 फरवरी से शुरू किया गया था। अब तक ट्रेन पर चार बार पथराव हो चुका है। वहीं इस ट्रेन से पांच मवेशी टकरा चुके हैं। इसकी वजह से फ्रंट डिजाइन बदलने की पेशकश की गई है। पथराव की जांच होगी कानपुर सेंट्रल के जीआरपी प्रभारी राम मोहन राय ने कहा कि घटनास्थल महराजपुर थाना क्षेत्र में आता है। इसलिए जीआरपी वाराणसी में दर्ज मुकदमा महराजपुर थाने को स्थानांतरित किया जाएगा। जीआरपी और आरपीएफ अपने स्तर से भी ट्रेन पर पथराव करने वालों की जांच करेगी।
View More

24x7 HELP

Visitor
अब तक देखा गया