अमेरिका से भारत को मिल सकती है बड़ी राहत, GSP का दर्जा रह सकता है जारी

Updated on: 25 August, 2019 08:43 AM
भारत को अमेरिका से तरजीही व्यापार व्यवस्था (जीएसपी) समाप्त करने के फैसले पर जल्द बड़ी राहत मिल सकती है। अमेरिका भारत के लिए तरजीही राष्ट्र का दर्जा जारी रख सकता है। इस बाबत डेमोक्रेटिक पार्टी की तरफ से राष्ट्रपति पद की उम्मीदवार तुलसी गब्बार्ड समेत अमेरिका के कई प्रमुख सांसदों ने बुधवार को राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से आग्रह किया है। इसके बाद माना जा रहा है कि अमेरिका जीएसपी समाप्त करने की समय सीमा को बढ़ा सकता है। ट्रंप ने इसी महीने अमेरिकी कांग्रेस (संसद) को भारत सहित कुछ अन्य देशों को दी गई तरजीही सामान्यीकृत प्रणाली (जीएसपी) कार्यक्रम के तहत लाभार्थी विकासशील देश का दर्जा समाप्त करने के इरादे के बारे में बताया था। इसके तहत कम विकसित अथवा कुछ विकासशील देशों से कुछ उत्पादों के शुल्क मुक्त आयात की व्यवस्था है। इसका मकसद उनकी अर्थव्यवस्था के विकास में मदद करना है। अमेरिकी जीएसपी कार्यक्रम के तहत वाहनों के कल-पुर्जे और परिधान सामग्री समेत करीब 2,000 उत्पाद अमेरिका में शुल्क मुक्त रूप से आयात किये जा सकते हैं। लेकिन इसके लिए शर्त है कि लाभार्थी विकासशील देश कांग्रेस द्वारा स्थापित पात्रता मानदंडों को पूरा करे। कांग्रेस के अनुसार इस छूट से भारत को सर्वाधिक लाभ हुआ। समाधान निकलाने की कोशिश जारी: भारत और अमेरिका के बीच कारोबारी मतभेदों को सुलझाने के लिए 14 फरवरी को आधिकारियों और सीईओ के बीच उच्च स्तरीय बातचीत हुई थी। इस वार्ता में अमेरिका और भारत ने वित्तीय सेवा, स्वास्थ्य देखरेख और सुरक्षा के क्षेत्रों में द्विपक्षीय कारोबार और निवेश बढ़ाने के लिए तीन विशेष ग्रुप बनाने का निर्णय लिया। सूत्रों का कहना है कि आम चुनाव के बाद दोनों देशों के कारोबारी रिश्ते पटरी पर आ जाएंगे। बेहतर प्रस्ताव के साथ आएं तो दरवाजे खुले हाल ही में जीएसपी पर नरमी दिखाते हुए एक शीर्ष अमेरिकी अधिकारी ने कहा था कि अगर भारत व्यापार के क्षेत्र में बेहतर प्रस्ताव के साथ आगे आता है तो उसके लिए दरवाजे खुले हैं। अधिकारी के मुताबिक, अगर भारत व्यापार और बेहतर बाजार पहुंच से जुड़ी दिक्कतों को दूर करने के लिए गंभीर प्रस्ताव रखता है तो उसपर जरूर विचार किया जाएगा। रियायत खत्म करने का सही समय नहीं रिपब्लिक पार्टी के सांसद जार्ज होल्डिंग ने कहा कि भारत को तीन दशकों से तरजीही व्यापार का दर्जा मिला हुआ है और इसे खत्म करने का यह सही समय नहीं है। उन्होंने कहा, इस पर पुनर्विचार करना चाहिए। लेकिन चुनाव से पहले इसकी जरूरत नहीं है।. - 1970 को शुरू हुआ था जीएसपी प्रोग्राम तब से भारत इसका लाभ उठा रहा है। - 5.7 अरब डॉलर का आयात बिना शुल्क के अमेरिका को किया गया 2017 में - 2000 उत्पादों का निर्यात किया जाता है जीएसपी के तहत अमेरिका को दुनिया भर से
View More

24x7 HELP

Visitor
अब तक देखा गया