कांग्रेस से सिर्फ 13% महिलाओं को टिकट

Updated on: 20 July, 2019 01:54 PM
कांग्रेस ने चुनाव घोषणा- पत्र में लोकसभा और विधानसभा के साथ केंद्र सरकार की नौकरियों में भी महिलाओं को 33 फीसदी आरक्षण का वादा किया है। पर लोकसभा चुनाव में पार्टी ने अब तक सिर्फ 13% महिला उम्मीदवार घोषित किया है। जबकि पार्टी साढ़े तीन सौ से अधिक पर अपने प्रत्याशियों के नाम का ऐलान कर चुकी है। इनमें 47 महिलाएं प्रत्याशी हैं। पिछले चुनाव में कांग्रेस ने 60 महिलाओं को टिकट दिए थे। चुनाव घोषणा-पत्र में कांग्रेस ने महिला सशक्तीकरण से जुड़े करीब एक दर्जन वादे किए हैं। इनमें में महिला आरक्षण के लिए 17वीं लोकसभा में संविधान संशोधन के साथ केंद्रीय नौकरियों में 33 प्रतिशत महिला आरक्षण का वचन शामिल हैं। कांग्रेस ने सबसे अधिक महिलाओं को टिकट उत्तर प्रदेश और उसके बाद पश्चिम बंगाल में दिए हैं। पार्टी ने उत्तर प्रदेश के लिए अभी तक 55 उम्मीदवार घोषित किए हैं, इनमें से यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी सहित 10 महिलाओं को टिकट दिया गया है। पश्चिम बंगाल में कांग्रेस ने आठ महिलाओं को टिकट दिया है। पश्चिम बंगाल में लोकसभा की कुल 42 सीटें हैं। प्रदेश के लिहाज से यह करीब बीस फीसदी होता है। इसके बावजूद तृणमूल कांग्रेस की अध्यक्ष और ममता बनर्जी कांग्रेस से आगे निकल गई। उन्होंने मौजूदा लोकसभा चुनाव में 41 प्रतिशत महिला उम्मीदवार दिए हैं। जबकि वर्ष 2014 में हुए लोकसभा चुनाव में 35 फीसदी टिकट दिए थे। ओडिशा में बीजू जनता दल मे भी लोकसभा चुनाव में 33 फीसदी महिलाओं को टिकट दिया है। कांग्रेस के एक नेता ने कहा चुनाव में जीत सबसे अहम होती है। सभी पार्टियां जीत की संभावनाओं को ध्यान में रखते हुए उम्मीदवारों का चयन करती हैं। ऐसे में कई बार यह तय करना मुश्किल होता कि किन-किन सीटों पर महिलाओं को टिकट दिया जाए। जिन सीटों पर पार्टी को जीत की संभावना दिखती है, वहां महिला उम्मीदवार घोषित करती है। पर प्रतिशत तय करके ऐलान करना मुमकिन नहीं है। -33 प्रतिशत आरक्षण का वादा किया है कांग्रेस पार्टी ने लोकसभा और विधानसभा में -41 तृणमूल ने और बीजद ने 33 फीसदी महिलाओं को दिया है टिकट
View More

24x7 HELP

Visitor
अब तक देखा गया