अपनी किडनैपिंग का नाटक रच चुके हैं BJP प्रवक्ता पर जूता फेंकने वाले शक्ति भार्गव

Updated on: 19 November, 2019 02:17 PM
तिकड़म में माहिर डॉक्टर शक्ति भार्गव (Shakti Bhargava) लापता होकर अपने अपहरण का नाटक भी रच चुके हैं। करीब साढ़े चार साल पहले 18 जुलाई 2014 को डॉक्टर शक्ति भार्गव अचानक दिल्ली में पहाड़गंज के अम्पायर डीलक्स होटल से गायब हो गए थे। होटल के कमरे से उनके दो मोबाइल फोन और अन्य सामान मिले थे। परिजनों ने नबी करीम थाने में गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई थी। तत्कालीन केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन को आईएमए ने मामले की सूचना दी थी। अपने बुने जाल में खुद फंस गए बीआईसी बंगलों को लेकर शक्ति भार्गव को अपना ही दांव उल्टा पड़ गया। डॉ. भार्गव ने बंगले खरीदने वाले अन्य कारोबारियों की शिकायत आयकर विभाग, सीबीआई और सुप्रीम कोर्ट तक में कर दी। शक्ति की पत्नी शिखा खन्ना भार्गव की एसएलपी पर ही सीबीआई ने रिपोर्ट दर्ज की थी। शक्ति भार्गव अब अपनी खरीदी संपत्तियों की रकम का हिसाब नहीं दे पा रहे हैं, जो उन्होंने खरीदी हैं। आयकर विभाग ने उनसे पूछा कि आखिर कैसे 300 करोड़ के तीन बंगले महज 11.5 करोड़ रुपए में खरीद लिए? कौन हैं शक्ति भार्गव डॉक्टर शक्ति भार्गव जनरल सर्जन हैं। उनके पास मास्टर ऑफ सर्जरी की डिग्री है। सिविल लाइंस कानपुर स्थित भार्गव हॉस्पिटल में 20 प्रतिशत के पार्टनर हैं। करीब 35 साल पुराना ये हॉस्पिटल शहर के अच्छे नर्सिंग में शुमार किया जाता है। इनके पिता वेद प्रकाश भार्गव शहर के बड़े और प्रतिष्ठित चार्टर्ड अकाउंटेंट थे। मां दया भार्गव, पत्नी शिखा खन्ना भार्गव और छोटे भाई संजीव भी डाक्टर हैं। संजीव भार्गव की पत्नी भी डॉक्टर हैं। पिछले साल आयकर विभाग के छापों में भी करोड़ों रुपये बरामद हुए थे।
View More

24x7 HELP

Visitor
अब तक देखा गया