पूरी बारात फूड प्वायजनिंग का शिकार, सौ से अधिक पहुंचे अस्पताल

Updated on: 22 May, 2019 06:56 AM
उत्तर प्रदेश के फिरोजाबाद में रविवार देर रात मेडीकल काॅलेज के ट्रॉमा सेंटर में सौ से अधिक फूड प्वायजनिंग के शिकार बाराती, जिनमें बुजुर्ग, व्यक्ति व बच्चे, महिलाएं थीं, उनकी तबियत बिगड़ी हुई थी। उल्टी हो रही थी। अस्पताल प्रशासन एकदम से इतनी संख्या में लोग देख परेशान हो गया।आनन-फानन में सीएमएस आरके पाण्डेय को अवगत कराया गया। उन्होंने अपने डाक्टरों के साथ मौके का मुआयना कर लोगों को उपचार दिलाया। सोमवार सुबह तक राहत मिल सकी। थाना नारखी क्षेत्र नगला डूमर हरी नगर से शीलेंद्र पुत्र काशीराम (लोधी) की बारात रविवार को थाना खैरगढ़ क्षेत्र जखारा में लाल सिंह के घर आयी थी। जहां विवाह की रस्मों के बाद बारौठी व नाश्ता हुआ। बताया कि उसके बाद खाने की शुरूआत हुई। खाने के दौरान ही अचानक बारात में शामिल लोगों, महिलाओं, बुजुर्गो व बच्चों की तबियत बिगड़ने लगी। आनन-फानन में उन्हें मेडीकल काॅलेज के ट्रामा सेंटर लाया गया। यहां एकदम से काफी संख्या में लोगों के आने पर एक बेड पर दो दो, वार्डो में भी व्यवस्था की गयी। सीएमएस डा. आरके पाण्डेय के अलावा सीओ शिकोहाबाद व पुलिस बल भी मौके पर आ गया। पानी में विषाक्त मिलाने का आरोप बारात में शामिल जिन लोगों की तबियत खराब हुई उनका कहना था कि कुछ लड़कों ने पानी में कुछ मिलाया था। वो दावत के दौरान कह रहे थे कि पानी ज्यादा पियो। इतना ही नहीं जब हमारे बच्चों की तबियत बिगड़ी और हॉस्पिटल लेकर चलने लगे तो लट्ठ आदि से रोका। फिर हमने डायल 100 को फोन किया, तब यहां सबको ला पाये। जिन ड्रमों से पानी पिलाया गया था बाद में जब उनके घरातियों को पिलाने का नंबर आया तो खाली कर दिए। जिन्होंने ऐसा किया है उन पर कार्रवाई होनी चाहिए। सीएमएस डा. आरके पांडेय का कहना था कि मध्य रात्रि दो बजे उनके पास खबर आई थी कि फूड प्वायजनिंग का शिकार काफी संख्या में लोग आये हैं। इसके बाद उन्होंने यहां आकर अपनी फिजीशियन डाक्टर्स की टीम को बुलाया। बताया सभी को दवा दी गई है। उन्होंने मरीजों की संख्या करीब 80 बताई है। पानी के सैंपल लिए आरोपों के बाद सीएमओ डा. एसके दीक्षित खुद गांव जखारा गये। उन्होंने पानी व अन्य कई सैंपल लिये हैं, जिनकी जांच की जा रही है।
View More

24x7 HELP

Visitor
अब तक देखा गया