नॉएडा रावे पार्टी : फॉर्म हाउस में जिस्मफरोशी का भी धंधा

Updated on: 19 October, 2019 04:12 PM

उत्तर प्रदेश के नोएडा सेक्टर-126 स्थित जिस फार्म हाउस में आयोजित रेव पार्टी पर शनिवार रात को पुलिस ने छापेमारी कर 192 लड़के-लड़कियों को पकड़ा, वहां रात को जिस्मफरोशी का धंधा भी चलता था। गिरफ्तार 31 महिलाओं में से 6 महिलाएं देह व्यापार के लिए लड़कियां उपलब्ध कराती थीं। .

आयोजकों ने फार्म हाउस के गेट पर दो लोगों को निगरानी के लिए खड़ा किया था। ये लोग बाहर की गतिविधि के बारे में तुरंत आयोजकों को सूचना देते थे। शनिवार रात 11 बजे जब पुलिस फार्म हाउस के गेट पर पहुंची तो बाहर की निगरानी कर रहे व्यक्ति ने इसकी जानकारी अंदर एक आयोजक को दी थी। जिसके बाद अंदर पार्टी कर रहे सभी लोग चौकन्ना हो गए थे। फार्म हाउस में बने तीन कमरों में लड़के-लड़कियां थे। पुलिस को भनक लगते ही कमरों से लड़के-लड़कियों को बाहर निकाल दिया गया था।

इन कमरों में जिस्मफरोशी का धंधा चल रहा था। फार्म में प्रवेश फीस के अलावा इन कमरों को बुक करने के लिए अलग से किराया चुकाना होता था। आयोजकों को 6 महिलाएं लड़कियां उपलब्ध कराती थीं, ये भी गिरफ्तार हो चुकी हैं। लड़कियों को दिल्ली से लाया जाता था। महिलाएं एक एजेंसी के जरिये लड़कियों को हायर करके लाती थीं।

आधी रात के बाद ज्यादा नशा
एक बजे के बाद फार्म हाउस में लड़के और लड़कियों को ज्यादा नशा परोसा जाना था। रात 10 बजे से पार्टी शुरू होकर सुबह चार बजे तक चलनी थी। मगर पुलिस ने एक बजे छापेमारी कर सभी को गिरफ्तार कर लिया।


सभी फार्मों पर पुलिस ने बढ़ाई निगरानी
यमुना खादर में 300 से ज्यादा फार्म हाउस हैं। इन फार्म हाउस में अवैध रेव पाटियों का आयोजन किया जाता है। इसके अलावा इन फार्म हाउसों में आपराधिक गतिविधियां भी होती हैं। एसएसपी ने स्थानीय पुलिस को सभी फार्म हाउस पर निगरानी रखने के निर्देश दिए हैं। रात में भी पुलिस फार्म हाउसों पर गश्त करेगी। .

इन धाराओं में की कार्रवाई
अवैध रूप से तंबाकू का इस्तेमाल करना, दूसरे राज्यों की शराब लेकर आना, खाद्य सुरक्षा अधिनियम, हुक्के से प्रदूषण फैलाना, तेज आवाज डीजे बजाना आदि के तहत कार्रवाई की गई है। जिसमें आरोपियों के खिलाफ पुलिस 60, 62, 63, पब्लिक न्यूसेंस के तहत धुआ फैलाना आदि धाराओं के तहत कार्रवाई की है। .

परिजनों का जेल पर तांता
192 लड़के-लड़कियों के गिरफ्तार कर पुलिस ने रविवार रात को ही जेल भेज दिया। जब परिजनों को बच्चों के जेल जाने का पता चला तो वह जेल में उनसे मिलने पहुंचे। हालांकि ज्यादातर परिजनों को गिरफ्तार होने के बाद ही अपने बच्चों के कृत्य के बारे में पता चला गया था। सोमवार को भी परिजन अपने बच्चों से मिलने के लिए जेल पहुंचे। ज्यादातर परिजनों को अपने बच्चों के रेव पार्टी में जाने की जानकारी नहीं थी। पुलिस ने रेव पार्टी का आयोजन करने वाले पांच मुख्य आरोपियों को रिमांड पर लेने के लिए कोर्ट में अर्जी दाखिल की है। इस केस की विवेचना कर रहे अजय कुमार अग्रवाल ने बताया कि तीन बसों में भरकर लड़के-लड़कियों को जेल भेजा गया है। .

View More

24x7 HELP

Visitor
अब तक देखा गया