जब तक मोदी और भाजपा है, तब तक जंगल में रहने वालों की जमीन को कोई हाथ नहीं लगा सकता: PM मोदी

Updated on: 17 July, 2019 12:34 AM
मेरे चुनाव अभियान की शुरुआत मेरठ से हुई थी। अब आखिरी सभा मध्य प्रदेश के खरगौन में हो रही है। ऐतिहासिक नजर से देखें तो मेरठ और खरगौन के बीच एक डोर ऐसी भी है जिस पर जिस पर अकसर ध्यान नहीं जाता। ये दोनों ही शहर 1857 के स्वतंत्रता संग्राम से जुड़े हुए हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मध्यप्रदेश के खरगोन में एक रैली को संबोधित करते हुए यह बात कही। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के भाषण की मुख्य बातें * आप दशकों बाद लगातार दूसरी बार पूर्ण बहुमत की सरकार बनाने वाले हैं। इस बार आप सिर्फ एक वोट नहीं डालने वाले बल्कि एक विकसित और नए भारत की नींव डालने वाले हैं। राजग 130 करोड़ भारतीयों की पसंद है। * लोकतंत्र में चुनाव सरकार बनाने के लिए होता है। राजनीतिक दल और उम्मीदवार आपसे अपनी-अपनी नीयत और नीति के हिसाब से वोट मांगते हैं। लेकिन 2019 का चुनाव अन्य चुनावों से भिन्न है। इस चुनाव का नेतृत्व जनता कर रही है। * 21वीं सदी के भारत के इन्हीं निर्माता के उत्साह का परिणाम है कि देश आज कश्मीर से कन्याकुमारी और कच्छ से कामरूप पूरा देश कह रहा है- 'अबकी बार, मोदी सरकार'। और 3-4 दिन से मैं सुन रहा हूं- अबकी बार, 300 पार। * आतंकवाद और नक्सलवाद को खत्म करने की हमारी प्रतिबद्धता को भरपूर जन समर्थन मिला है। ये देश की भावना है कि आतंकियों को घर में घुसकर मारा जाए। * कांग्रेस सैनिकों से विशेषाधिकार छीनने और देशद्रोह का कानून खत्म करने जैसे विषयों को लेकर जनता के बीच गई, जिसको देश ने ठुकरा दिया है। देश इस बात पर एकमत है कि जो लोग जम्मू कश्मीर के लिए अलग प्रधानमंत्री की पैरवी कर रहे हैं, उन्हें इस चुनाव में सज़ा दी जाए। * मैं हमारे जनजातीय और आदिवासी समाज का आभारी हूं कि उन्होंने कांग्रेस की सच्चाई को पूरी तरह पहचाना है और हमेशा के लिए कांग्रेस के झूठ और प्रपंच को नकार दिया है। * मैं आपको इस बात के लिए भी आश्वस्त करता हूं कि जब तक मोदी और भाजपा है, तब तक जंगल में रहने वालों के अधिकारों को और उनकी जमीन को कोई हाथ नहीं लगा सकता। * आपका ये सेवक आदिवासी समाज की पढ़ाई, कमाई, दवाई, सिंचाई और जन-जन की सुनवाई के लिए पूरी निष्ठा से काम कर रहा है। पढ़ाई के लिए देशभर में एकलव्य स्कूलों का एक व्यापक नेटवर्क बनाया जा रहा है। आदिवासी क्षेत्रों से विश्व स्तरीय खिलाड़ी तैयार करने का हमने अभियान चलाया है। वनधन केंद्रों के माध्यम से वन-उपज में मूल्य वृद्धि करने के लिए हम निरंतर काम कर रहे हैं। * बीते 5 वर्ष में बीज से लेकर बाज़ार तक की एक मजबूत व्यवस्था बनाने के लिए जो उठाए कदमों को हम और गति देने वाले हैं। 2022 तक किसानों की आय दोगुनी करने के लिए हम पूरी तरह से प्रतिबद्ध हैं। फसलों की लागत कम हो और उचित मूल्य मिले, ये हमारा निरंतर प्रयास रहा है। अन्नदाता अब ऊर्जादाता भी बने इसके लिए हम कदम उठा चुके हैं। किसान अपनी जमीन पर सोलर पैनल लगाकर बिजली पैदा करे, और राज्य सरकार उस बिजली को खरीदे, ऐसे प्रयास हमारी सरकार कर रही है। * ऐसा झूठ फैलाया जा रहा है कि मोदी किसानों के खाते में जो पैसा जमा करता है, वो चुनाव के बाद वापस लेगा। ये कैसा झूठ फैलाया जा रहा है? भारत सरकार आपके खाते में जो पैसे जमा कर रही है वो पैसे आपके हैं, दुनिया की कोई ताकत उन पैसों को वापस नहीं ले सकती।
View More

24x7 HELP

Visitor
अब तक देखा गया