गुजरात में पीएम मोदी ने कहा- 300 का आंकड़ा बताया तो मेरा मजाक उड़ा

Updated on: 17 July, 2019 12:34 AM
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने रविवार को कहा कि 2019 के चुनाव में बड़े-बड़े चुनावी पंडित गलत साबित हो गए। उन्होंने कहा कि जब छठवें चरण के मतदान के बाद मैंने 300 से ज्यादा सीटें जीतने का दावा किया तो कई लोगों ने मेरा मजाक उड़ाया। लेकिन मैंने देखा कि पूरे चुनाव के दौरान लोग एक मजबूत सरकार बनाने के लिए मतदान कर रहे थे। लोकसभा चुनाव जीतने के बाद पहली बार अपने गृहराज्य गुजरात पहुंचने पर मोदी ने यह बात कही। उन्होंने जेपी चौक पर भाजपा के पुराने मुख्यालय के पास आयोजित कार्यक्रम में भाजपा कार्यकर्ताओं संबोधित करते हुए कहा कि कि जीत के साथ जिम्मेदारी भी जुड़ी रहती है। विजय को नम्रता और विवेक के जरिए पचाया जा सकता है। मोदी ने कहा कि 2014 के लोकसभा चुनाव की जीत गुजरात के विकास मॉडल की जीत थी। तब लोग उन्हें नही जानते थे पर गुजरात को जानते थे। उन्होंने कहा कि 2019 के चुनाव की जीत उनके सरकार के कामकाज के पक्ष में लोगों के सकारात्मक रूझान और विश्वास के कारण हुई हैं। प्रधानमंत्री ने कहा कि ऐसा कम ही होता है कि लोग सत्ता के पक्ष के लिए मिल कर वोट करते है। मोदी ने गुजरात को भाजपा का अभेद्य किला बनाया प्रधानमंत्री मोदी से पहले भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने भी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि यह मोदी ही थे जिन्होंने 2001 से 2014 तक गुजरात का मुख्यमंत्री रहते हुए गुंडराज और भ्रष्टाचार को खत्म किया। शाह ने कहा कि उन्होंने कई गांवों का दौरा किया, कई पार्टी कार्यकर्ताओं को प्रशिक्षित किया और अंत में गुजरात को भाजपा का अभेद्य किला बना दिया। ‘सूरत हादसे से दुविधा में था कि आऊं या न आऊं’ गुजरात पहुंचे प्रधानमंत्री मोदी के भाषण में सूरत अग्निकांड का दर्द साफ तौर पर झलका। इस दौरान उन्होंने कहा कि कल तक मेरे मन में दो स्थिति थी, एकतरफ इस अभिनंदन समारोह में जाऊं या नहीं, क्योंकि वहां कर्तव्य जुड़ा था, दूसरी तरफ उन लोगों के प्रति करूणा थी जिनकी सूरत में मृत्यु हो गयी। जिन परिवारों ने इस त्रासदी में अपने बच्चों को खोया है, उनका दर्द कोई भी शब्द कम नहीं कर सकता। प्रधानमंत्री ने कहा कि एक तरफ यह भी था, मुझे कर्तव्य के तौर पर राज्य के लोगों को धन्यवाद देना था और अपनी मां का आशीर्वाद लेना था। इसलिए यहां आयोजन गुजरात दौरे के दौरान प्रधानमंत्री ने खानपुर स्थित भाजपा के पुराने दफ्तर भी गए और पुरानी यादों को ताजा किया। उन्होंने बताया कि जब मैं इस पार्टी कार्यालय का उपयोग करता था तो शाम को पत्रकारों के साथ यहां कई विषयों पर बातें हुआ करती थीं। इस छोटे पार्टी दफ्तर से मुझे बहुत कुछ सीखने को मिला। हर बार जब प्रधानमंत्री मोदी चुनाव जीतते हैं तो वह खानपुर में पार्टी कार्यालय का दौरा करते हैं और एक विशेष कमरे में बैठते हैं, जहां से उन्होंने राजनीतिक जीवन की शुरुआत की थी। मां से लिया आशीर्वाद जबरदस्त जीत के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपनी मां हीराबेन से मिलने गुजरात पहुंचे। मोदी ने अपने छोटे भाई पंकज मोदी के साथ यहां रायसण इलाके में रहने वाली मां से मुलाकात कर उनका आशीर्वाद लिया। इससे पहले अहमदाबाद में एक सभा में उन्होंने कहा कि वह प्रधानमंत्री के तौर पर दोबारा शपथ लेने से पहले मां का आशीवार्द लेना चाहते हैं।
View More

24x7 HELP

Visitor
अब तक देखा गया