जासूसी करने वाले पाकिस्तानी सेना के अफसर और डॉक्टर को फांसी

Updated on: 12 August, 2020 09:34 AM

पाकिस्तान के सेना प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा ने सेना के एक सेवानिवृत्त ब्रिगेडियर  और एक डॉक्टर को गुप्तचरी के मामले में फांसी की सजा सुनाई है।

पाकिस्तानी सेना की मीडिया विंग के अनुसार, ब्रिगेडियर (सेवानिवृत्त) राजा रिजवान और डाक्टर वसीम अकरम को फांसी की सजा दी गई है। सेना के एक अन्य बड़े अधिकारी लेफ्टिनेंट जनरल (सेवानिवृत्त) जावेद इकबाल को 14 वर्ष के कड़े कारावास की सजा दी गई है।

विदेशी एजेंसियों को दे रहे थे गोपनीय सूचना 
सेना की तरफ से इस संबंध में जारी बयान में तीनों दोषियों के अपराध के बारे में कोई विवरण नहीं दिया गया है। लेकिन सेना की मीडिया विंग के महानिदेशक मेजर जनरल आसिफ गफ्फूर ने इस बात की पुष्टि की है कि वरिष्ठ अधिकारियों को इस वर्ष 22 फरवरी को गिरफ्तार किया गया था। सेना ने कहा है कि तीनों जासूसी गतिविधियों में शामिल थे और संवेदनशील सूचनाओं को विदेशी जासूसी एजेंसियों को लीक करते थे।

View More

24x7 HELP

Visitor
अब तक देखा गया