मुंबई से दरभंगा जा रही पवन एक्सप्रेस की बोगी में लगी आग, हडकंप

Updated on: 20 August, 2019 05:02 AM

सोमवार को सुबह साढ़े नौ बजे मुंबई से दरभंगा जा रही लोकमान्य तिलक टर्मिनल (पवन एक्सप्रेस) की स्लीपर कोच के नीचे ब्रेक बाइंडिंग में आग धधकने से हडकंप मच गया। आनन-फानन में यात्रियों ने चेन पुलिंग कर ट्रेन को रोका। ट्रेन की रफ्तार धीमी होते ही यात्री जान बचाने के लिए कूदने लगे। अफरा-तफरी का माहौल छा गया। बोगियों से बाहर निकलकर यात्री रेलवे लाइन के किनारे जा खड़े हुए। जानकारी मिलने पर पहुंचे रेलवे अधिकारियों व कर्मचारियों ने आग पर काबू पाया। इसमें कोई हताहत नहीं हुआ। करीब एक घंटे बाद स्थिति सामान्य होने पर ट्रेन रवाना की गई।

जानकारी के मुताबिक पवन एक्सप्रेस सोमवार को सुबह मुंबई से विहार के दरभंगा शहर जा रही थी। सुबह करीब 9.20 बजे पवन एक्सप्रेस कटैयाडांडी रेलवे स्टेशन से प्रयागराज की तरफ आगे बढ़ी। तभी अचानक कटैयाडांडी व बरगढ़ रेलवे स्टेशन के बीच ट्रेन की एस-3 बोगी में ब्रेक शू के पास से धुआं उठता नजर आया। यह देखकर यात्रियों में अफरा-तफरी मच गई। यात्री दहशत में आ गए। कुछ ही देर में कोच के नीचे से आग लग गई। लपटें उठती देख कर आनन-फानन में चेन पुलिंग कर यात्रियों ने ट्रेन रोकी। ट्रेन धीरे-धीरे बरगढ़ स्टेशन पर रुक गई। स्टेशन पर ट्रेन धीमी होने पर ही दहशत में आए यात्री कूदने लगे। रेलवे स्टेशन मास्टर और तकनीकी स्टाफ ने दौड़कर अग्निशमन यंत्रों के माध्यम से आग पर काबू पाया। इसके बाद ही यात्रियों ने राहत की सांस ली। स्टेशन मास्टर बरगढ़ अरुण कुमार तिवारी ने बताया कि जबलपुर में चेकिंग के बाद ट्रेन आगे बढ़ाई गई थी। आग लगने के पीछे प्रथम द्रष्टया ब्रेक बाइंडिंग होना है। ब्रेक शू में दिक्कत से ऐसी स्थिति बनी।

यात्रियों ने देखा था कोच में नीचे से उठ रहा धुआं
सुपरफास्ट लोकमान्य तिलक टर्मिनल एक्सप्रेस हर जगह स्टेशनों में नहीं रूकती। लंबे रूट की ट्रेन होने के कारण यह दूर-दूर वाले बड़े स्टेशनों पर ही इसका ठहराव है। कोच में नीचे से आग लगने के बाद जब धुआं उठा तो अचानक यात्रियों की नजर पड़ी। आग लगती देख यात्रियों के एकबारगी होश गुम हो गए। यात्रियों ने किसी तरह से रेलवे प्रशासन को सूचना पहुंचाई। ट्रेन के चालक व गार्ड को भी इससे अवगत कराया गया। इसके बाद बड़े ही सूझबूझ के साथ यात्रियों ने चेकपुलिंग कर ट्रेन को रोका।

स्थिति सामान्य होने पर एक घंटे बाद ट्रेन हुई रवाना
चित्रकूट जिले के कटैयाडांडी व बरगढ़ के बीच लोकमान्य तिलक टर्मिनल एक्सप्रेस के ब्रेक शू के पास आग लगने के बाद करीब एक घंटे तक ट्रेन रूकी रही। ट्रेन में सवार यात्री इतने अधिक दहशतजदा दिख रहे थे कि वह ट्रेन से दूर जाकर लाइन के किनारे खड़े रहे। जिस समय ब्रेक शू के पास आग लगी, उस दौरान ट्रेन करीब 100 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से दौड़ रही थी। मानिकपुर जंक्शन चित्रकूट से ट्रेन चलने के बाद ट्रेन का अगला स्टापेज नैनी प्रयागराज में था। आग बुझने के बाद 10.24 बजे ट्रेन आगे के लिए रवाना की गई।

View More

24x7 HELP

Visitor
अब तक देखा गया