वाराणसी एयरपोर्ट पर अतीक अहमद को वीआईपी सुविधा दिये जाने की जांच शुरू

Updated on: 21 September, 2019 09:50 PM
बाबतपुर एयरपोर्ट पर गत तीन जून को बाहुबली पूर्व सांसद अतीक अहमद को वीआईपी सुविधा दिये जाने की जांच शुरू हो गई है। एयरपोर्ट अथॉरिटी और सीआईएसएफ के दिल्ली मुख्यालय से जांच के निर्देश मिलने के बाद स्थानीय अफसरों में हड़कंप मचा हुआ है। हालांकि एयरपोर्ट और सीआईएसएफ का कोई भी अफसर इस बाबत मुंह खोलने को तैयार नहीं है। सूत्रों के अनुसार सीआईएसएफ सीसीटीवी फुटेज के आधार पर रिपोर्ट बना रही है। बिना पास अतीक के लोगों को टर्मिनल भवन में प्रवेश से लेकर विशेष कक्ष में बैठाने और अतीक व उसके लोगों की आवभगत को गंभीरता से लिया गया है। एक वरिष्ठ अधिकारी इस मामले की जांच कर रहे हैं। एयरपोर्ट अथॉरिटी की ओर से भी मामले की तफ्तीश शुरू की गई है। इस बारे में पूछे जाने पर एयरपोर्ट निदेशक एके राय ने किसी जानकारी से इनकार किया है। ये है मामला सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर अतीक अहमद को प्रयागराज की नैनी जेल से साबरमती स्थानांतरित करने की प्रक्रिया शुरू हुई थी। इसी क्रम में अतीक तीन जून को विमान से अहमदाबाद भेजे जाने के लिए बाबतपुर एयरपोर्ट लाया गया। सुबह आठ बजे अतीक जब एंबुलेंस से पहुंचा तो एयरपोर्ट के बाहर पहले से ही काफी संख्या में उसके समर्थक मौजूद थे। अतीक ने उनमें से कई से हाथ मिलाया। टर्मिनल भवन में प्रवेश के दौरान कई समर्थकों को बिना पास भीतर जाने दिया गया। आरोप है कि मुख्य टर्मिनल भवन में कतिपय पुलिस तथा सीआईएसएफ जवान आवभगत में लगे रहे। अतीक को विशेष अतिथि कक्ष में बैठाकर चाय व अन्य सुविधाएं दी गईं। अतीक के कुर्ते की जेब में दो हजार के नोटों की गड्डी झलक रही थी। स्पाइसजेट के जिस विमान से अतीक को अहमदाबाद भेजा गया, उसमें परिवार के सात सदस्यों के अलावा नैनी सेंट्रल जेल के डिप्टी जेलर, दारागंज सीओ, एसआई रविंदर यादव आदि भी थे।
View More

24x7 HELP

Visitor
अब तक देखा गया