वडोदरा: होटल के सेप्टिक टैंक साफ करने उतरे 7 सफाई कर्मचारियों की दम घुटने से मौत

Updated on: 16 November, 2019 05:47 AM

गुजरात के वडोदरा में बड़ी संख्या में सफाई कर्मचारियों के मौत की खबर है। गुजरात में वडोदरा के फरटिकुई गांव में एक होटल के सेप्टिक टैंक साफ करने उतरे 7 सफाई कर्मचारियों की दम घुटने से मौत हो गई। गुजरात में वडोदरा जिले के डभोई तालुका के फरतीकुई गांव में शुक्रवार की देर रात गटर और उससे जुड़े कुंए (स्थानीय भाषा में खारकुंआ) की सफाई करने इसमें उतरे चार सफाईकर्मियों समेत सात लोगों की मौत हो गयी। पुलिस ने आज बताया कि मृतकों में उस दर्शन होटल के तीन कर्मी भी थे जिसके निकट यह घटना हुई। होटल मालिक हसन अब्बास घटना के बाद से ही फरार बताया गया है। उसने होटल में भी ताला लगा दिया है।    

मृतक सफाईकर्मियों में एक पिता-पुत्र की जोड़ी भी शामिल है। इस बात की जांच की जा रही है कि इनकी मौत गटर लाइन में रहने वाली गैस से दम घुटने के कारण हुई है अथवा ये सभी डूबने से मरे हैं।

मृतकों की पहचान हितेश हरिजन (23) और उसके पिता अशोक हरिजन (45), महेश हरिजन (25) तथा महेश पाटनवाडिया (46) (चारो सफाईकमीर् और निकटवतीर् थुवावी गांव के निवासी) तथा होटल के तीन कर्मियों अजय वसावा(24, निवासी कादवली गांव जिला भरूच), विजय चौधरी (22) और शहदेव वसावा (22) (दोनो सूरत जिले के उमरपदा तालुका के वेलावी गांव गांव निवासी) के रूप में की गयी है। घटना की विस्तृत पड़ताल की जा रही है।

बता दें कि पिछले साल दिसंबर में भी आंध्र प्रदेश के चित्तूर जिले में सेप्टिक टैंक के अंदर घुसकर मैनुअली टैंक साफ करने के दौरान ज़हरीली गैस की चपेट में आने से सात सफाईकर्मियों की मौत हो गई थी। पुलिस ने बताया था कि शुरुआत में चार सफाईकर्मियों ने टैंक के अंदर जाकर सफाई शुरू की। लेकिन, इस दौरान वह जल्दी ही बेहोश हो गया। जब काफी देर बाद वे चारों सैप्टिक टैंक से बाहर नहीं आए, उसके बाद अन्य तीन उस सैप्टिक टैंक के अंदर गए। लेकिन, वहां भी वैसे ही वे दोनों भी बेहोश हो गए और मर गए।
 

View More

24x7 HELP

Visitor
अब तक देखा गया