वाराणसी में पेयजल की शिकायतों पर नगर विकास मंत्री उखड़े, जलकल जीएम को चेताया

Updated on: 06 December, 2019 05:47 AM

नगर विकास व जिले के प्रभारी मंत्री सुरेश खन्ना ने सोमवार को कमिश्नरी सभागार में विभागीय कार्यों की समीक्षा के दौरान पेयजल की शिकायतों पर जलकल महाप्रबंधक पर नाराजगी जतायी। उन्होंने इसके लिए जलकल के साथ-साथ नगर निगम व जल निगम के अधिकारी भी जिम्मेदार बताया। कहा कि जनसुनवाई में सबसे ज्यादा शिकायतें पेयजल को लेकर आ रही हैं। दोबारा शिकायत मिली तो जिम्मेदार अधिकारियों की अब कारवाई होगी। जलनिगम के 32 ओवर हेड टैंकों से शत-प्रतिशत पेयजल सप्लाई न होने पर खासा नाराज हुए।

नगर विकास मंत्री ने पॉलिथीन के खिलाफ कार्रवाई के बारे में पूछा। नगर निगम के अधिकारियों ने बताया कि 42 कुंटल पॉलिथीन जब्त किया गया है। 12 लाख का जुर्माना भी वसूला गया है। कहा कि लगातार अभियान जारी रखें। निर्देश दिया कि बारिश के नजदीक आ रहा है। ऐसे में ड्रेनेज सिस्टम को सही करें। अतिक्रमण के खिलाफ अभियान चलाने का भी निर्देश दिया।

बैठक में महापौर मृदुला जायसवाल, विधायक उत्तरी रविंद्र जायसवाल, विधायक कैंटोंमेंट सौरभ श्रीवास्तव सहित कमिश्नर दीपक अग्रवाल, जिलाधिकारी सुरेंद्र सिंह, जल निगम के चेयरमैन, नगर आयुक्त सहित अन्य विभागीय अधिकारी प्रमुख रूप से उपस्थित रहे।



नगर विकास व जिले के प्रभारी मंत्री सुरेश खन्ना ने सोमवार को कमिश्नरी सभागार में विभागीय कार्यों की समीक्षा के दौरान पेयजल की शिकायतों पर जलकल महाप्रबंधक पर नाराजगी जतायी। उन्होंने इसके लिए जलकल के साथ-साथ नगर निगम व जल निगम के अधिकारी भी जिम्मेदार बताया। कहा कि जनसुनवाई में सबसे ज्यादा शिकायतें पेयजल को लेकर आ रही हैं। दोबारा शिकायत मिली तो जिम्मेदार अधिकारियों की अब कारवाई होगी। जलनिगम के 32 ओवर हेड टैंकों से शत-प्रतिशत पेयजल सप्लाई न होने पर खासा नाराज हुए।

नगर विकास मंत्री ने पॉलिथीन के खिलाफ कार्रवाई के बारे में पूछा। नगर निगम के अधिकारियों ने बताया कि 42 कुंटल पॉलिथीन जब्त किया गया है। 12 लाख का जुर्माना भी वसूला गया है। कहा कि लगातार अभियान जारी रखें। निर्देश दिया कि बारिश के नजदीक आ रहा है। ऐसे में ड्रेनेज सिस्टम को सही करें। अतिक्रमण के खिलाफ अभियान चलाने का भी निर्देश दिया।

बैठक में महापौर मृदुला जायसवाल, विधायक उत्तरी रविंद्र जायसवाल, विधायक कैंटोंमेंट सौरभ श्रीवास्तव सहित कमिश्नर दीपक अग्रवाल, जिलाधिकारी सुरेंद्र सिंह, जल निगम के चेयरमैन, नगर आयुक्त सहित अन्य विभागीय अधिकारी प्रमुख रूप से उपस्थित रहे।

सफाई की मॉनीटिरिंग नगर आयुक्त खुद करें
सफाई कार्यों पर भी नगर विकास मंत्री असंतुष्ट दिखे। कहा कि हमेशा सुधार के लिए आगे तैयार करें। नगर आयुक्त को निर्देश दिया कि स्वच्छता की निगरानी खुद करें। किसी भी स्तर पर कमी न आने चाहिए। सामुदायिक शौचालयों व यूरिनल की नियमित साफ-सफाई सुनिश्चित की जाए। आउटसोर्सिंग कर्मचारियों को समय से वेतन भुगतान के निर्देश दिए। रमना में निर्माणाधीन एसटीपी को गुणवत्ता के साथ निर्धारित समयावधि में पूरा कराएं। सिगरा-महमूरगंज मार्ग पर चल रहे सीवर लाइन का कार्य अभियान चलाकर शीघ्र पूरा करें।

सुरक्षित स्थानों पर पौधरोपण कराएं
नगर विकास मंत्री ने शहर के समस्त पार्कों में पौधरोपण का कार्य कराए जाने पर विशेष जोर देते हुए आगामी माह तक इसे पूरा कराए जाने का निर्देश दिया। कहा कि जहां भी पौधे लगाए जाएं वह सुरक्षित स्थान रहे। ताकि आसानी से देखभाल हो सके। नगर निगम के अधिकारियों को निर्देश दिया कि जो सुविधाएं अनुमन्य है वह जनता को मिलनी चाहिए। इसमें अधिकारी किसी भी स्तर पर लापरवाही न बरतें और समस्या का प्राथमिकता पर निस्तारण सुनिश्चित कराएं।

मंत्री की बैठक के बाद महापौर ने अधिकारियों की ली क्लास
नगर विकास मंत्री की समीक्षा बैठक में नगर निगम व जलकल की काफी शिकायतों आने पर महापौर ने बैठक के बाद अलग से क्लास ली। महापौर ने जनप्रतिनिधियों की ओर से उठाए गए मुद्दों को प्राथमिकता से निस्तारण करने का निर्देश दिया। जलकल महाप्रबंधक से शिकायतों का निस्तारण नहीं होने का कारण भी पूछा। करीब घंटेभर तक अलग-अलग बिंदु पर जानकारी भी जुटायी।

View More

24x7 HELP

Visitor
अब तक देखा गया