योग एक कला-जय प्रकाश निषाद

Updated on: 17 October, 2019 07:12 AM

चन्दौली/आज  राज्य मंत्री, पशुधन,मस्त्य, राज्य सम्पत्ति एवं नगर भूमि विभाग, उ0प्र0 जय प्रकाश निषाद आज पंचम अन्तर्राष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर महेन्द्र टेक्निकल इण्टर कालेज के परिसर में व जनपद के जिलाधिकारी नवनीत सिंह चहल, मुख्य विकास अधिकारी डा0 अभय कुमार श्रीवास्तव, विधायिका पीडीडीयू नगर श्रीमती साधना सिंह, जिला विद्यालय निरीक्षक विनोद राय सहित जनपद के अधिकारी/कर्मचारी संग योगाभ्यास किया गया। इस दौरान पतंजलि मण्डल प्रभारी राजेश योगी द्वारा योगाभ्यास लोगों को कराया गया। मंत्री जी ने योगाभ्यास कर रहे लोगों को सम्बोधित करते हुये कहा कि योग एक कला है जो हमारे शरीर, मन और आत्मा को एक साथ जोड़ता है और शान्तिपूर्ण बनाता है। योग आवश्यक है क्योंकि यह हमें फिट रखता है, तनाव को कम करने में मदद करता है और समग्र स्वास्थ्य को बनाये रखता है। कहा कि प्रत्येक मनुष्य को प्रतिदिन योगभ्यास सुबह करना चाहिए इससे जिन्दगीं में ज्यादा से ज्यादा निरोग रहेंगे।
इस अवसर पर जिलाधिकारी ने जनपद के लोगों एवं योगाभ्यास कर रहे लोगों से आह्वाहन किया कि योग न सिर्फ मानसिक सेहत के लिए फायदेमंद है बल्कि इससे दोबारा दिल के दौरे का खतरा भी आधा रह जाता है। कहा कि इस भागमभाग जिंदगी में यदि कोई व्यक्ति मात्र एक घंटा सुबह योगाभ्यास करे तो उनका मन दिनभर तनावमुक्त रहेगा। साथ ही बताया योगाभ्यास करने से मन मस्तिष्क दोनो रहता है स्वस्थ्य। कितने व्यक्तियों के पैर व घुटनों में दर्द रहता था कितना भी दवा हो उसका निदान नही निकल पाया लेकिन योगाभ्यास से लोगों को बिना किसी हास्पिटल व ओझा के पास गये बिना पैसे में अब स्वस्थ्य है व अपने घर का सारा कार्य कर रहे है।
कार्यक्रम के दौरान मण्डल प्रभारी राजेश योगी द्वारा योगाभ्यास के दौरान आसन करने के तरीके लोगों के विस्तारपूर्वक बताया। कहा कि लोगों को जो समस्या हो उससे सम्बन्धित ही योगाभ्यास करने से जल्द ही स्वस्थ्य होगी शरीर। कहा कि आज के युग में भागमभाग जिन्दंगी में लोगों के पास समय बिल्कुल नही है लेकिन उसमें से प्रतिदिन कुछ समय निकालकर अपने शरीर को स्वस्थ्य रखने के लिए करना अनिवार्य है अन्यथा लोग हास्पिटलों के चक्कर काटते रह जायेगे उसके बावजूद जिन्दंगी बचाना मुश्किल हो जा रहा है।
विधायिका पीडीडीयू नगर श्रीमती साधना सिंह ने सम्बोधन के दौरान बताया कि सभी व्यक्ति को योगाभ्यास करना चाहिए एससे दिल एवं दिमाक स्वस्थ्य एवं तनावमुक्त रहेगा। महिलाओं के अपने जीवनशैली को बदलना है, तो योग करना चाहिए। स्त्री हो या पुरूष योग करने के फायदे बहुत अधिक है। महिलाओं को कई प्रकार की बीमारियों से बचना है तो योगाभ्यास सुबह और शाम नियमित कराना चाहिए। महिलाएं अकसर सिर दर्द, कमर दर्द, बुखार, योन संक्रमण तथा तनाव जैसी समस्याओं से घिरी रहती है। इन समस्याओं से निजात पाना है, तो योग प्रशिक्षण के निर्देशन में योगाभ्यास इनकी बीमारियों का सही रूप में समाधान कर सकता है। महिलाओं को नित्य सूर्य नमस्कार, मार्जारी आसन, व्यघ्रासन, शशांकासन,ग्रीवासन, सर्वागासन, धनुरासन तथा सुप्त ब्रजासन विशेष रूप से महिलाओं को निरोगी रखने में लाभकारी सिद्ध होंगे।

View More

24x7 HELP

Visitor
अब तक देखा गया