काशी में सड़कों पर बह रहा सीवर, गंदगी से बजबजा रहे शहर के कई मोहल्ले

Updated on: 07 December, 2019 04:54 AM

मॉनसून की बारिश कभी भी शुरू हो सकती है। इसके पहले की तैयारियों की बात करें तो शहर के कई मोहल्ले सीवर से बजबजा रहे हैं। गंदा पानी सड़क पर बह रहा है। ऐसे में बारिश होने पर क्या हाल होगा, इसका अंदाजा लगाया जा सकता है। जलकल में इन दिनों आ रही शिकायतों में 60 फीसदी सीवर से जुड़ी हैं। नगर की पॉश कॉलोनियां भी इससे अछूती नहीं हैं।

लोगों का आरोप है कि जलकल में शिकायत करने पर सफाईकर्मी आते तो हैं पर बिना कोई स्थायी समाधान किये ऊपरी सफाई करके चले जाते हैं। प्रमुख बाजारों व मार्गों पर भी कई दिनों से बह रहा सीवर का पानी लोगों के लिए मुसीबत बना हुआ है। जलकल विभाग के कंट्रोल रूम में रोजाना करीब 250 शिकायतें दर्ज होती हैं, इनमें से 150 से ज्यादा केवल सीवर से संबंधित होती हैं।

लंका में बीएचयू के सिंहद्वार से पहले मुख्य सड़क पर करीब दो हफ्ते से सीवर बह रहा है। मरीज-तीमारदार, स्थानीय निवासियों, राहगीरों को इसी से गुजरना पड़ता है। इसी तरह सरसौली में शंभो माता मंदिर के पास सीवर की वजह से पैदल चलना दुश्वार हो गया है। बदबू से घरों में लोगों का रहना मुश्किल हो गया है।

औरंगाबाद से पितरकुंडा आते समय सराय उत्तर फाटक के पास 15-20 दिनों से सीवर की समस्या ज्यादा गहराई है। सड़कें टूट गई हैं, तमाम राहगीर गिरकर चोटिल हो चुके हैं। लाट सरैया के मुख्य मार्ग पर भी हफ्तों से गंदा पानी लगा है। लाट मस्जिद के पास 15 दिन से सीवर बह रहा है। अफसरों से शिकायत की गयी पर सुनवाई नहीं हो रही है। वार्ड नंबर 39 जलालीपुरा में कई गलियों में सीवर ओवरफ्लो हो रहा है। शाह के पंजा कब्रिस्तान का रास्ते में कई महीनों से पानी भरा है। अर्दली बाजार, डिठोरी महाल, सिकरौल, वरुणा विहार कॉलोनी, भुवनेश्वर नगर कॉलोनी में भी स्थिति दयनीय है।

कल हुई सफाई, आज फिर भर गया सीवर का पानी

कैंट थाना क्षेत्र के सरसौली में सम्मो माता मंदिर के पास सीवर का पानी भर जाने से पैदल चलना दुश्वार हो गया है। खास बात तो यह है कि जहाँ सीवर का पानी लगा हुआ है वही पर सफाइकर्मचारियों ने कल ही कई मेनहोल को खोलकर सफाई करने का दावा किया था। मुहल्ले के हजारों लोगों के निकलने का मुख्य मार्ग यही है। गंदे सीवर के पानी से उठ रहे बदबू से घरों में रहना मुश्किल हो गया है। यदि इसी समय बारिश हो जाय तो अंदाजा लगाया जा सकता है। क्षेत्र में आये दिन सीवर का पानी भरा रहता है। इसकी बार बार शिकायत जलकल विभाग से की जाती है लेकिन अब तक कोई ठोस कार्यवाही नही की गई है।

View More

24x7 HELP

Visitor
अब तक देखा गया