शासन अन्तिम पायदान पर बैठी पीड़ित महिलाओं के साथ न्याय हो इसके लिए निरन्तर प्रयार कर रही है-श्रीमती मीना चौबे

Updated on: 17 November, 2019 02:40 PM

चन्दौली/दिन बुद्धवार को उ0प्र0 राज्य महिला आयोग द्वारा नामित महिला आयोग की सदस्या मा0 श्रीमती मीना चौबे की अध्यक्षता में महिला उत्पीड़न की रोकथाम एवं पीड़ित महिलाओं को त्वरित न्याय दिलाने से सम्बन्धित पीडब्लूडी गेस्ट हाउस (डाक बंगला) में फरियादियों से मिलकर उनके समस्याओं पर विस्तारपूर्वक डिप्टी एसपी सदर, जिला विद्यालय निरीक्षक विनोद राय, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी भोलेन्द्र प्रताप सिंह, जिला पिछड़ा वर्ग कल्याण अधिकारी सहित विभागीय अधिकारियों संग पीडब्लूडी गेस्ट हाउस में चर्चा की गयी। इस दौरान उन्होंने महिला थाना प्रभारी बन्दना सिंह को निर्देश दिया कि महिलाओं के साथ कोई भेदभाव, उत्पीड़न सहित अन्य पारिवारिक झगड़ो का निस्तारण दोनों पक्षों को बुलाकर सुलह-समझौता के आधार पर किया जाय यदि इसके बाबजूद प्रताणित किया जाय तो सम्बन्धित के विरूद्ध कठोर कार्यवाही सुनिश्चित हो इसमें किसी प्रकार की बहानेबाजी न बताये अधिकारी। शासन महिलाओं को पुरूष के साथ कदम से कदम मिलाकर रखना चाहती है। कहा कि इसके लिए शासन अन्तिम पायदान पर बैठी पीड़ित महिलाओं के साथ न्याय हो इसके लिए निरन्तर प्रयार कर रही है। जनसुनवाई के दौरान श्रीमती चौबे ने दहेज उत्पीड़न, ठगी, मानव अधिकार कानून का उल्लघंन, शिक्षा विभाग, राजस्व विभाग आदि से सम्बन्धित कुल 08 प्रार्थना पत्रों को सुनी इस दौरान उन्होनें सम्बन्धित विभाग को निदेर्शित करते हुये कहा कि मौके पर जाकर अधिकारी स्वंय जाॅचकर रिर्पोट से अवगत कराये।
श्रीमती चौबे ने अधिकारियों को निदेर्शित करते हुये कहा कि महिलाओं से सम्बन्धित उत्पाीड़न, हिंसा, एवं अपराध की शिकायतों पर त्वरित कार्यवाई की जाए। इसमें किसी प्रकार की लापरवाही मिली तो संबंधित के खिलाफ कड़ी कार्यवाही की जायेगी। उन्होनें कहा कि महिला आयोग हर पीड़ित महिलाओं के साथ है महिलाओ के प्रति अपराध करने वालो को कड़ी से कड़ी कार्यवाही की जाएगी। साथ ही पुलिस प्रशासन महिलाओ के प्रति हो रहे अपराधों के प्रति संजीदा रहे व त्वरित कार्यवाही करें, थाने में महिलाओ के साथ सावधानी पूर्वक उनकी पीड़ा सुनते हुए जांच कर दोषियों के प्रति कार्यवाही की जाय। ताकि जिले में महिला अपराधों पर लगाम लगाई जा सके।
जनसुनावाई समाप्त होने पर कस्तुरबा गाॅधी आवासीय बालिका विद्यालय सदर का निरीक्षण की। निरीक्षण के दौरान परिसर की साफ-सफाई, वाल पेन्टिंग व लगे पौधे को देख काफी खुश दिखी साथ विद्यालय की छात्राओं से मिलकर सवालों से दक्षता को भी देखा छात्राओं ने सवालों का उत्तर भी छात्राओं ने दी। वही बार्डेन को सख्त निर्देश दिया कि बच्चियों की पूरी जिम्मेदारी आप पर रहती है इसे आप पूरी सर्तकता के साथ रहे बच्चियों के भोजन, पानी, फल, दूध सहित अन्य सामाग्री निर्धारित तिथियों में वितरित करते रहे जो खाद्य प्रदार्थ बाजार से लाया जाय उसके गुणवत्ता की जाॅच करने के उपरान्त ही खरीद करे साथ ही बच्चियों के स्वास्थ्य के साथ लापरवाही किसी भी दशा में क्षम्य नही होगी। कहा कि यदि किसी बच्चियों को किसी प्रकार की दिक्कत हो तो चिकित्साधिकारी को तत्काल फोन कर बुलाये।

View More

24x7 HELP

Visitor
अब तक देखा गया