डॉ रीना सिंह मौत केस: पति आलोक की गिरफ्तारी के लिए पुलिस ने दी दबिश

Updated on: 20 October, 2019 05:53 PM

स्त्री रोग विशेषज्ञ डाक्टर रीना सिंह की मौत के मामले में पुलिस पर लगते आरोपों के बीच घटना के ठीक एक हफ्ते बाद मंगलवार को एसएसपी आनंद कुलकर्णी घटनास्थल पर पहुंचे अौर अपनी नजर से स्थिति का आंकलन किया। एडीजी बृजभूषण ने भी सीओ कैंट अनिल कुमार को बुलाकर मामले की प्रगति जानी व सभी साक्ष्यों को एक्सपर्ट से जांच कराने का निर्देश दिया। अफसरों के दबाव पर पुलिस फास्ट हुई अौर रीना की हत्या में नामजद पति आलोक की गिरफ्तारी के लिए दबिश शुरू हो गई।

डाक्टर रीना की 2 जुलाई को टैगोर टाउन स्थित घर पर संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई थी। उनके पति डाक्टर आलोक ने पुलिस अौर रीना के परिवार वालों को बताया कि सीढ़ी से गिरने के कारण मौत हुई है। जबकि सीसीटीवी फुटेज में डाक्टर रीना छत से जमीन पर गिरते हुए दिखाई दी थी। इसी के बाद रीना के पिता ने पति डाक्टर आलोक, सास अौर ससुर के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कराया। मुकदमा दर्ज होने के कई दिनों बाद तक पुलिस ने पति आलोक या बच्चों तक से पूछताछ नहीं की। रीना के परिजनों का लगातार दबाव बढ़ने पर मंगलवार को पुलिस फास्ट हुई।

जो पुलिस अधिकारी जांच के बाद ही रीना के पति आलोक की गिरफ्तारी की बातें कहते रहे, उनका सुर अचानक मंगलवार को बदल गया। अब उनका दावा कर रहे हैं कि डाक्टर आलोक की गिरफ्तारी का प्रयास किया जा रहा है। बनारस में कई स्थानों पर गिरफ्तारी के लिए दबिश दी गई है। जौनपुर स्थित पैतृक आवास पर भी पुलिस टीम ने छापेमारी की। सीओ कैंट डॉ. अनिल कुमार का कहना है कि हत्या व आत्महत्या की स्थिति साफ होते ही अन्य शहरों में भी गिरफ्तारी के लिए टीम जाएगी। जल्द ही डॉ. आलोक को गिरफ्तार कर लिया जाएगा।
 

डॉ. रीना की मौत की घटना दोहराई जाएगी
पुलिस पर बढ़ते दबाव का नतीजा है कि डॉ. रीना सिंह की मौत वाले दिन की पूरी घटना विशेषज्ञों के सामने दोहराने की तैयारी की जा रही है। इसके लिए लखनऊ से विशेषज्ञों की एक टीम यहां आएगी। इसके लिए लखनऊ एफएसएल टीम से सम्पर्क किया गया है और जल्द ही यह प्रक्रिया पूरी की जाएगी। सीओ कैंट डॉ. अनिल कुमार ने दावा किया कि सीसीटीवी कैमरे की फुटेज में लग रहा है कि डॉ. रीना ने आत्महत्या की है। फुटेज के अनुसार रात में साढ़े तीन बजे तक डॉ. रीना व डॉ. आलोक सिंह में कहासुनी होती है। इसके बाद दोनों बेडरुम में सोने चले जाते हैं। सुबह करीब 5.05 मिनट पर डॉ. रीना अपने कमरे से निकलती हैं और दूसरे मंजिल पर चली जाती हैं। सुबह 5.17 मिनट पर वह छत से गिरते हुए दिखाई देती हैं। फुटेज के अनुसार सुबह करीब छह बजे डॉ. आलोक बेडरुम से निकलते हैं और दूसरे मंजिल पर जाते है। डॉ. रीना के गिरने का पता चलने पर वह नीचे आते है। ऐसे में पूरी संभावना है कि डॉ. रीना को धक्का नहीं दिया गया होगा।

रीना अौर आलोक में चैटिंग को लेकर होती थी तकरार
पुलिस सूत्रों के अनुसार जांच में पता चला है कि डाक्टर अालोक अौर डॉ. रीना में वाट्सएप पर किसी से चैटिंग को लेकर तकरार होती थी। मरने से कुछ घंटे पहले एक जुलाई को भी संभवत: चैटिंग को लेकर ही दोनों में कहासुनी हुई थी। पुलिस पूरे मामले की जानकारी के लिए डॉ. रीना की मोबाइल की जांच करने के साथ ही सीडीआर भी निकाल रही है।

View More

24x7 HELP

Visitor
अब तक देखा गया