रितु जायसवाल के नक्शेकदम पर चल पड़ी कैमूर की विजया लक्ष्मी

Updated on: 22 July, 2019 01:24 AM

बिहार ही नहीं बल्कि आज पुरे देश में बेटियों ने गांव समाज को प्रगतिशील बनानें में अपने आप को किसी से कम नहीं होना चाहतीं. एक तरफ जंहा हमारे देश में भारत का वित्त मंत्री मंत्रिमंडल में निर्मला सीतारमण इस पद पर पदासीन हैं,  तो दुसरी तरफ बिहार के पंचायतीराज राज में मुखिया पद की गरिमा को रितु जायसवाल ने गरिमामयी बना चूंकि हैं. अब ऐसे में महिला सशक्तिकरण एवम पंचायत सहित समाजहित में अपनी निष्ठुरता को बनाएं रखने वाली कैमूर की बेटियां भी कैसे पिछे छूट सकती हैं. जी हां, यंहा बात हो रही बिहार के कैमूर जिला मोहनिया प्रखंड के कठेज पंचायत की विजयालक्ष्मी राठौर की. विजयालक्ष्मी राठौर ने हाल ही में वीरकुंअर सिंह महाविद्यालय "आरा" से  अपनी बी. बी. ए की पढ़ाई पुरी की हुइ हैं, एवम एम.बी.ए में अपना दाखिला करा चूंकि हैं. हैरानी की बात ये है की 21 साल की उम्र में ही शादी होंने के बाद भी अपनी पढ़ाई जारी रखते हुई भी पिछले  2016 के पंचायती चुनाव में कठेज पंचायत से ही मुखिया पद की दावेदारी के लिए चुनावी रण में कूद पड़ी. परिणामस्वरूप नाम  मात्र  वोटों से वंचित रह गई. पंचायतवासियों के तरफ से मिले इस अपार जनसमर्थन से विजयालक्ष्मी का हौंसला कुछ इस तरह बढ़ा की जनता की समस्याओं का निराकरण के लिए स्वच्छता एवम पर्यावरण की हरियाली सहित बेरोजगारी जैसी समस्याओ से पंचायतवासियों को निजात दिलाने की कोशिशों में लगी रहीं.


अभी हाल ही में बिहार के सीतामढ़ी जिले के सोनवर्षा प्रखंड के सिंहवाहिनी पंचायत की  बिहार में सबसे ज्यादा चर्चित मुखिया रितु जायसवाल की बताए गये मार्गों पर चलने का विजयालक्ष्मी ने प्रण ले रखा है. बता दे की बिहार की सबसे तेजतर्रार मुखिया रितु जायसवाल इन दिन काफी मशहूर हो चूंकि हैं एवम सोशलमिडिया में गांव-समाज के प्रति उनकी एक्टिविटी को हजारों युवतियां उन्हें फॉलो करके उनकी कार्यशैली को अपने गांव-समाज में भी लाना चाहती हैं. विजयलक्ष्मी ने बताया की चुनाव जितना तो एकमात्र दिखावा होता है असल में समाज को प्रगतिशील बनानें के लिए निष्ठुरता होनी चाहिए. मैं गांव-समाज को एक साफ-सुथरा एवम वो सभी सुविधाएं मुहैया करानी चाहती हूं जो की शहरों में होता है. युवाओं को रोजी- रोटी के जीवनयापन के लिए अपने लोगों से दूर दूसरे शहरों में जाना पड़ता है, फिर भी उनके मेहनत से कमाए चंद पैसे हफ्तों में ही खत्म हो जाती है. इसलिए बेरोजगारी को दुर करने की भी अथक प्रयास कर रही हूं.

View More

24x7 HELP

Visitor
अब तक देखा गया