पिता ने मारा चांटा तो बेटी ने बुला ली पुलिस, जानें फिर क्या हुआ

Updated on: 09 December, 2019 12:45 PM

वह अपने बालिग होने का इंतजार कर रही थी। जैसे ही 18 की हुई घर छोड़ दिया। रविवार को उत्तर प्रदेश के हाथरस में प्रेमी के घर पहुंच गई। शादी करने की जिद करने लगी। युवक के परिजन घबरा गए। युवती के परिजनों को फोन कर दिया। वे हाथरस पहुंच गए। पिता ने बेटी को चांटा मार दिया। बेटी ने पुलिस को बुला लिया। तीन घंटे चंदपा थाने में हंगामा चला। पुलिस घबरा गई। अंतत: युवती को महिला थाने भेज दिया।

आगरा निवासी युवती हाथरस के एक युवक के साथ पढ़ी है। दोनों की आगरा में दोस्ती हुई थी। जो धीरे-धीरे प्यार में बदल गई। 29 जून को युवती 18 साल की हो गई। उसे किसी ने बताया था कि बालिग लड़की अपनी इच्छा से कहीं भी रह सकती है। घरवाले उस पर कोई दबाव नहीं बना सकते। रविवार की सुबह वह अपने माता पिता को घर में सोता हुआ छोड़कर हाथरस रोडवेज बस स्टैण्ड आ गयी। यहां आकर उसने अपने प्रेमी को फोन किया। प्रेमी बस स्टैंड पहुंचा। उसे अपने साथ घर ले गया। जैसे ही प्रेमी के परिजनों ने युवती को देखा तो वे घबरा गये।

उन्होंने तुरन्त युवती के परिजनों को फोन कर दिया। उनसे कहा कि वह नगला भुस से उसे बस में बैठा देंगे, लेकिन युवती के परिजन उसे कार लेकर लेने आ गये। नगला भुस पर आकर युवती को पिता ने थप्पड़ मार दिया। इससे गुस्से में आकर युवती ने 100 डायल कर पुलिस को बुला लिया। पुलिस सभी को चंदपा कोतवाली ले गई। परिजन जबरदस्ती उसे साथ ले जाना चाहते थे। युवती ने हंगामा शुरू कर दिया। तीन घंटे तक चंदपा कोतवाली में युवती को समझाने का दौर चला। वह मानने को तैयार नहीं हुई।


युवती के पिता ने कहा कि उससे बड़ी एक बहन और भाई है। दोनों की शादी होने के बाद वह उसकी मर्जी से ही शादी कर देंगे। वह हाथरस के युवक से ही शादी करने की जिद पर अड़ी रही। आखिर में पुलिसकर्मी युवती को महिला थाने छोड़ गए। चंदपा कोतवाली इंस्पेक्टर वीपी गिरि का कहना है कि दोनों बालिग हैं। युवती शादी करना चाह रही है। उसे महिला थाने भेज दिया है। वह अपने माता पिता के साथ जाने को तैयार नहीं थी।

View More

24x7 HELP

Visitor
अब तक देखा गया