डॉक्टरों ने किया मृत घोषित, फिर महिला को जिंदा करने के लिए जानें क्या किया

Updated on: 12 December, 2019 12:47 AM

जमशेदपुर (झारखंड) के ग्रामीण इलाके में अंधविश्वास का अब भी बोलबाला है। लोग डॉक्टर से अधिक ओझा-गुनी और झाड़-फूंक पर भरोसा करते हैं। सर्पदंश से एक महिला की मौत हो गई, चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया पर ग्रामीण महिला को जिंदा करने के लिए झाड़-फूंक करवा रहे हैं।

घाटशिला प्रखंड की हेंदलजुड़ी पंचायत के कालाझोर गांव में एक महिला तांत्रिक ने सर्पदंश से मृत महिला को जिंदा करने के लिए शव की झाड़-फूंक करती रही और देखनेवालों का तांता लगा रहा। सोमवार को कालाझोर के डूंगरीडीह टोला की सोमवारी हेंब्रम की मौत सर्पदंश से हो गई थी। सोमवारी हेंब्रम को चित्ती सांप ने डंस लिया था। गंभीर हालत में सोमवारी को अनुमंडल अस्पताल लाया गया। यहां डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। इसके बाद उसके शव को अंतिम संस्कार के लिए गांव ले जाया गया।


मंगलवार की सुबह सोमवारी के शव का अंतिम संस्कार करने की तैयारी होने लगी। इसी बीच ग्रामीणों ने कहा कि कालाझोर की ही एक महिला तांत्रिक झाड़-फूंक से सोमवारी को जिंदा कर सकती है। महिला को वहां ले जाते ही देखने के लिए ग्रामीणों की भीड़ लग गई।

सांप काटे तो क्या करें

-पीड़ित व्यक्ति को शांत रखने का प्रयास करें ताकि उसका रक्तचाप न बढ़े

-मरीज के शरीर से घड़ी, अंगूठी, चेन आदि गहने उतार लें

-पीड़ित व्यक्ति को किसी भी तरह से जगाए रखें, बेहोश न होने दें

-सीधा लिटाकर रखें ताकि शरीर में हलचल न हो क्योंकि इससे जहर फैलता है

-हाथ में सांप काटे तो नीचे लटकाकर रखें, नहीं तो जहर दिल तक तेजी से पहुंचता है

View More

24x7 HELP

Visitor
अब तक देखा गया