IIT कैंपस में मां, बेटे और बहू की सामूहिक खुदकुशी मामले में पोस्टमार्टम रिपोर्ट से हुआ ये खुलासा

Updated on: 22 August, 2019 11:09 AM

आईआईटी के बॉयो-केमेस्ट्री विभाग में सीनियर लैब टैक्निशियन गुलशन कुमार, उनकी पत्नी सुनीता और मां कांता के शवों का रविवार को मेडिकल बोर्ड ने पोस्टमार्टम किया। शुरुआती रिपोर्ट के अनुसार दोनों महिलाओं और गुलशन की मौत में करीब तीन घंटे का अंतर है। ऐसे में अंदाजा लगाया जा रहा है कि पत्नी और मां को फांसी के फंदे पर लटकता देखकर गुलशन ने फांसी लगाई होगी। रविवार को तीनों के शवों को पोस्टमार्टम के बाद उनके परिजनों को सौंप दिया गया है। पोस्टमार्टम की प्राथमिक रिपोर्ट में मौत का कारण गले में फंदा लगाकर लटकने से हुई मौत को बताया गया है। तीनों मृतकों के शरीर पर अन्य किसी भी तरह की चोट के कोई निशान नहीं पाए गए हैं। अब पुलिस गुलशन के ऑफिस में उसके साथ काम करने वाले लोगों से पूछताछ की तैयारी कर रही है। ऑफिस से लौट कर लगाई फांसी : पुलिस पोस्टमार्टम की प्राथमिक रिपोर्ट से मिली जानकारी के बाद मान कर चल रही है कि शुक्रवार को गुलशन के ऑफिस जाने के बाद सुनीता और उसकी सास कांता देवी के बीच झगड़ा हुआ होगा। झगड़े के बाद सुनीता ने सबसे पहले फांसी लगाई और फिर उसकी मौत के बाद कांता देवी ने दूसरे बेडरूम में जाकर आत्महत्या कर ली। दोनों की मौत के बीच करीब सात से आठ मिनट का फसला है। दोनों की मौत के करीब तीन घंटे बाद जब गुलशन घर लौटा तो उसने दोनों को फांसी पर लटके देखा होगा और खुद भी फांसी से लटक गया। तीनों की मौत का कारण भी दम घुटना ही आया है। घर का गेट भी गुलशन ने ही खोला होगा। एक सप्ताह बाद से ही होने लगे थे झगड़े : सुनीता के परिजनों ने गुलशन और उसकी मां पर शादी के बाद से ही दहेज की मांग करने के आरोप लगाए हैं। एसडीएम को दिए बयान में सुनीता की मां ने बताया है कि शादी से पहले ही उन्होंने गुलशन की मां और शादी करवाने वाले रिश्तेदार को बता दिया था कि वह दहेज नहीं दे सकते। उन्होंने कहा कि गुलशन की मां ने बिना दहेज के शादी की बात मान ली थी, लेकिन शादी के एक सप्ताह बाद से ही सास और बहू के बीच झगड़े होने लगे। दोनों के बीच शादी में मिलने वाले सामान को लेकर झगड़े होते थे और गुलशन सुनीता की पिटाई करता था।.

View More

24x7 HELP

Visitor
अब तक देखा गया