किशोरी को सौ रुपये देकर टरकाया, दुष्कर्म के आरोपी को भगाया

Updated on: 22 October, 2019 02:57 PM

उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ में पुलिस की मनमानी का एक और मामला सामने आया है। अगवा करने के बाद किशोरी से दुष्कर्म के मामले में पुलिस ने पूरा प्रकरण जानने के बाद किशोरी को महज सौ रुपये देकर घर के लिए रवाना कर दिया। वहीं, दुष्कर्म व अपहरण के आरोपी को भी चौकी से डरा धमकाकर भगा दिया।

मामला गांधी पार्क थाना स्थित रोडवेज पुलिस चौकी में सोमवार का है। कौशांबी जनपद की रहने वाली एक किशोरी बस से उतरकर पुलिस चौकी पहुंची थी। उसने अपना नाम बताया और अपनी आप बीती सुनाते हुए कहा कि हरिद्वार के एक अधेड़ ने उसे अगवा कर लिया और दो दिन से उसके साथ दुष्कर्म कर रहा है। अब उसे लेकर दिल्ली जा रहा है। किशोरी अपनी दास्तां सुना ही रही थी कि इसी बीच आरोपी भी चौकी में पहुंच गया। पुलिस ने पूरा मामला सुनने के बाद किशोरी को सौ रुपये देकर वापस कौशांबी जाने के लिए रेलवे स्टेशन भेज दिया। सामने आए आरोपी को फटकार लगाने के बाद भेज दिया। पुलिस ने लिखा पढ़ी के नाम पर किशोरी व आरोपी के नाम पते जरूर नोट किए थे।


किशोरी अभी रेलवे स्टेशन तक नहीं पहुंची थी कि शहर के दो युवकों ने उसका पीछा करना शुरू कर दिया। रेलवे स्टेशन के नजदीक ये देख हिन्दू जागरण मंच के कार्यकर्ताओं ने किशोरी को रोक लिया। किशोरी ने जब आपबीती बताई तो कार्यकर्ताओं चौकी पहुंचकर हंगामा किया कर दिया। आरोप लगाया कि किशोरी का अपरहरण व दुष्कर्म के आरोपी को बिना कार्रवाई के छोड़ा कैसे, इसे लेकर हिंजामं के कार्यकर्ता और पुलिस के बीच जमकर कहासुनी हुई।

हंगामा बढ़ने पर इंस्पेक्टर गांधी पार्क भी रोडवेज बस स्टैंड चौकी पर पहुंच गए। गुस्साए कार्यकर्ताओं को समझाते हुए कार्रवाई का आश्वासन दिया। किशोरी से तहरीर लेकर उसे महिला थाने पहुंचा दिया। इसके साथ ही चौकी पुलिस को आरोपी को तत्काल प्रभाव से गिरफ्तार करने के लिए कह दिया। किशोरी के परिजनों को भी सूचना कर दी है। पुलिस किशोरी के परिजनों के अलीगढ़ आने का इंतजार कर रहे हैं।

इंस्पेक्टर गांधी पार्क धीरेंद्र मोहन शर्मा ने बताया कि मामला संदिग्ध है। किशोरी और आरोपी बताए जा रहे युवक के साथ जाने को तैयार नहीं थी, फिलहाल मामले की जांच की जा रही है। जो दोषी होगा उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

View More

24x7 HELP

Visitor
अब तक देखा गया