डाक्टर रीना सिंह हत्याकांड की सीबीआई जांच की मांग, बहन के साथ सड़क पर उतरीं महिलाएं

Updated on: 06 December, 2019 05:47 AM

वाराणसी की स्त्री रोग विशेषज्ञ डाक्टर रीना सिंह हत्याकांड की सीबीआई जांच की मांग करते हुए दर्जनों महिलाओं ने कचहरी के अंबेडकर चौराहे पर प्रदर्शन किया। रीना की बहन संध्या के नेतृत्व में सड़क पर उतरी महिलाओं ने कहा कि पुलिस शुरू से मामले को दबाने में जुटी है। पुलिस नहीं चाहती कि रीना के हत्यारोपितों को सजा मिले। पुलिस जानबूझकर सत्ता के दबाव में रीना के हत्यारोपित पति आलोक सिंह का पक्ष ले रही है।

सामाजिक संस्था पहल के सदस्यों ने बुधवार को श्रद्धांजलि सभा भी आयोजित की। उन्होंने जांच में लीपापोती करने वाले पुलिसकर्मियों पर भी कार्रवाई की मांग की। उन्होंने प्रधानमंत्री व मुख्यमंत्री को संबोधित ज्ञापन एसीएम को दिया। डाक्टर रीना सिंह की दो जुलाई को संदिग्ध परिस्थितियोंमें मौत हो गई थी। पति ने सीढी से गिरने के कारण मौत की बात कही। सीसीटीवी फुटेज में रीना छत से गिरती दिखाई दी। इसके बाद पिता ने पति आलोक सिंह अौर सास-ससुर के खिलाफ हत्या का केस दर्ज कराया। पुलिस ने अपनी तरफ से सबूत जुटाने की कोई कोशिश नहीं की। पति को गिरफ्तार करने की भी कोशिश नहीं की। कोर्ट से कुर्की की नोटिस जारी होने की तैयारी हुई तो 20 दिन बाद उसने सरेंडर किया।


वाराणसी की स्त्री रोग विशेषज्ञ डाक्टर रीना सिंह हत्याकांड की सीबीआई जांच की मांग करते हुए दर्जनों महिलाओं ने कचहरी के अंबेडकर चौराहे पर प्रदर्शन किया। रीना की बहन संध्या के नेतृत्व में सड़क पर उतरी महिलाओं ने कहा कि पुलिस शुरू से मामले को दबाने में जुटी है। पुलिस नहीं चाहती कि रीना के हत्यारोपितों को सजा मिले। पुलिस जानबूझकर सत्ता के दबाव में रीना के हत्यारोपित पति आलोक सिंह का पक्ष ले रही है।

सामाजिक संस्था पहल के सदस्यों ने बुधवार को श्रद्धांजलि सभा भी आयोजित की। उन्होंने जांच में लीपापोती करने वाले पुलिसकर्मियों पर भी कार्रवाई की मांग की। उन्होंने प्रधानमंत्री व मुख्यमंत्री को संबोधित ज्ञापन एसीएम को दिया। डाक्टर रीना सिंह की दो जुलाई को संदिग्ध परिस्थितियोंमें मौत हो गई थी। पति ने सीढी से गिरने के कारण मौत की बात कही। सीसीटीवी फुटेज में रीना छत से गिरती दिखाई दी। इसके बाद पिता ने पति आलोक सिंह अौर सास-ससुर के खिलाफ हत्या का केस दर्ज कराया। पुलिस ने अपनी तरफ से सबूत जुटाने की कोई कोशिश नहीं की। पति को गिरफ्तार करने की भी कोशिश नहीं की। कोर्ट से कुर्की की नोटिस जारी होने की तैयारी हुई तो 20 दिन बाद उसने सरेंडर किया।

डॉ. रीना सिंह की मां गिरिजा सिंह ने कहा कि बेटी की सुनियोजित तरीके से हत्या की गई है। पूरे मामले को दामाद डॉ. आलोक सिंह के रिश्तेदार दबाने में लगे हैं। डॉ. आलोक को एक राज्यमंत्री का संरक्षण भी मिल रहा है। पिता रंगनाथ सिंह ने कहा कि पुलिस जिस तरह से सबूतों को जुटाने में टालमटोल कर रही है, उससे नीयत में खोट नजर आ रही है। इस नाते सीबीआई से मामले की निष्पक्ष जांच कराई जाए।

उन्होंने कहा कि अन्य सबूतों से भी छेड़छाड़ की जा रही है। बहन संध्या सिंह ने कहा कि डॉ. रीना के हत्यारों को सजा दिलाने के लिए वह अंतिम समय तक लड़ती रहेंगी। संस्था के राजेश श्रीवास्तव ने भी अपने विचार रखे। इस मौके पर लोगों ने महिला हिंसा रोकने और डॉ. रीना को न्याय दिलाने के नारे लगाए। सभा में नमिता सिंह, अर्चना, निशा, रश्मि, सरिता मिश्रा, बबलू श्रीवास्तव, अभिषेक सिंह, जोगिन्दर सिंह, डॉ. अर्चना, संदीप श्रीवास्तव समेत कई लोग मौजू

View More

24x7 HELP

Visitor
अब तक देखा गया