डीजी जेल आनंद कुमार ने शुक्रवार को विभागीय समीक्षा बैठक के दौरान लापरवाह जेल अधिकारियों को कठोर चेतावनी दी। उन्होंने प्रतिबंधित वस्तुओं की जेल" /> यूपी : प्रदेश की पांच जेलों को दिया गया सर्वोत्तम जेल प्रशंसा पत्र

यूपी : प्रदेश की पांच जेलों को दिया गया सर्वोत्तम जेल प्रशंसा पत्र

Updated on: 25 August, 2019 08:54 AM

डीजी जेल आनंद कुमार ने शुक्रवार को विभागीय समीक्षा बैठक के दौरान लापरवाह जेल अधिकारियों को कठोर चेतावनी दी। उन्होंने प्रतिबंधित वस्तुओं की जेलों तक पहुंच रोकने के लिए अचूक व्यवस्था बनाने का निर्देश दिया। इस मौके पर उन्होंने पांच जेलों को सर्वोत्तम जेल प्रशंसा पत्र भी प्रदान किया।

प्रदेश की सभी 71 जेलों के वरिष्ठ अधीक्षकों व अधीक्षकों की मौजूदगी में डीजी जेल ने उन जेलों के जेल अधिकारियों को कठोर चेतावनी दी, जहां से वीडियो वायरल हुए थे और प्रतिबंधित वस्तुएं बरामद हुई थीं। उन्होंने स्पष्ट आदेश दिए कि निडर होकर कार्य करें और किसी के दबाव में न आते हुए जेलों में सुरक्षा एवं अनुशासन स्थापित करें।

सर्वोत्तम जेल प्रशंसा पत्र प्रदान किया :
उन्होंने सेंट्रल जेल वाराणसी, जिला जेल गाजियाबाद, जिला जेल आगरा, जिला जेल कानपुर नगर व जिला जेल बांदा को सर्वोत्तम जेल प्रशंसा पत्र प्रदान किया। इन जेलों में जुलाई 2017 से जून 2019 की अवधि में प्रशंसनीय कार्य किया गया था।

इसके साथ ही जिला जेल गौतमबुद्धनगर के अधीक्षक विपिन कुमार मिश्र, जिला जेल मेरठ के अधीक्षक बीडी पांडेय व जिला जेल सोनभद्र के अधीक्षक मिजाजी लाल को प्रशंसा पत्र दिया। जिला जेल गौतमबुद्धनगर व मेरठ में उत्तर प्रदेश बीज विकास निगम, कृषि विभाग व जेल के संयुक्त संयोजन में बंदियों के कौशल विकास के लिए किए गए अनुबंध के अनुसार जेल में गेहूं के बीज का रिकार्ड उत्पादन किया गया। जिला जेल सोनभद्र में पेयजल की गंभीर समस्या के निराकरण के लिए कार्यदायी संस्था ने 59.37 लाख रुपये का इस्टीमेट दिया था, लेकिन जेल में यह कार्य मात्र 70 हजार में करा लिया गया।

18 बिन्दुओं पर समीक्षा की :
बैठक में जेल से संबंधित 18 बिन्दुओं की समीक्षा की गई। इसके तहत जेलों में मानक से अधिक बंदियों की संख्या, जेलों की सुरक्षा व्यवस्था, जेलों से वीडियो वायरल होने पर रोक लगाने, निर्माणाधीन जेलों की प्रगति की समीक्षा, नई जेलों के लिए जमीन अधिग्रहण की स्थिति, जेलों में लगे पीसीओ के संचालन, वीडियो कांफ्रेंसिंग सिस्टम के अधिकतम उपयोग, सीसीटीवी कैमरों की क्रियाशीलता तथा जेलों में तलाशी व्यवस्था को मजबूत करने जैसे विषयों पर गहन समीक्षा की गई। जिला जेल कानपुर नगर के अधीक्षक आशीष तिवारी, जिला जेल लखनऊ के अधीक्षक पीएन पांडेय व जिला जेल आगरा के अधीक्षक शशिकांत मिश्रा ने अलग-अगल विषयों पर अपना प्रस्तुतीकरण दिया।

बैठक में एआईजी जेल मुख्यालय डॉ. शरद कुलश्रेष्ठ, एआईजी प्रशिक्षण एवं विकास वीके जैन, डीआईजी मुख्यालय लव कुमार, डीआईजी जेल अयोध्या व गोरखपुर रेंज श्रीपर्णा गांगुली, डीआईजी जेल वाराणसी रेंज वीएस यादव, डीआईजी जेल आगरा व मेरठ रेंज संजीव त्रिपाठी, डीआईजी जेल बरेली रेंज शशि श्रीवास्तव व पीआरओ संतोष कुमार वर्मा भी मौजूद रहे।

View More

24x7 HELP

Visitor
अब तक देखा गया