सावन के तीसरे सोमवार अौर नागपंचमी के अद्भुत संयोग के कारण वाराणसी में काशी विश्वनाथ के दरबार में जलाभिषेक अौर दर्शन करने वालों की भीड़ उमड़ी हुई " /> सावन का तीसरा सोमवारः 3 बजे तक लगभग ढाई लाख भक्त पहुंचे काशी विश्वनाथ के दरबार

सावन का तीसरा सोमवारः 3 बजे तक लगभग ढाई लाख भक्त पहुंचे काशी विश्वनाथ के दरबार

Updated on: 17 October, 2019 07:10 AM

सावन के तीसरे सोमवार अौर नागपंचमी के अद्भुत संयोग के कारण वाराणसी में काशी विश्वनाथ के दरबार में जलाभिषेक अौर दर्शन करने वालों की भीड़ उमड़ी हुई है। दोपहर दो बजे तक एक लाख 80 हजार भक्त काशी विश्वनाथ के दरबार में पहुंच चुके थे। भक्तों का कतार ज्ञानवापी के अंदर लगी बैरिकेडिंग के साथ ही एक तरफ ढाई किलोमीटर दूर मैदागिन तो दूसरी तरफ तीन किलोमीटर दूर लक्सा तक पहुंच चुकी है।

गोदौलिया से दशाश्वमेध तक हर तरफ विश्वनाथ के श्रद्धालु ही दिखाई दे रहे है। गंगा घाट से बांसफाटक तक बोल बम गूंज रहा है। तिरंगा के साथ भी कांवरियों का दल दिखाई दिया। बाइकों, जीपों, कारों और ट्रैक्टर ट्रालियों पर सवार होकर काशी पहुंचने वाले कांवरियों के हाथों में भी तिरंगा लहराता दिखा।

विश्वनाथ गली व्यवसायिक संघ ने भी बाबा का जलाभिषेक किया। परम्परागत अभिषेक करने को लेकर प्रशासन से व्यापारियों की कुछ देर किच-किच भी हुई। वहीं, बाबा विश्वनाथ के साथ ही सारंगनाथ महादेव, मारकंडेय महादेव, त्रिलोचन महादेव आदि मंदिरों में जलाभिषेक करने के लिए बड़ी संख्या में स्थानीय कांवरिए रवाना हुए। चेतगंज, लक्सा, औरंगाबाद, मंडुवाडीह, मढ़ौली, नगवां, सामनेघाट, भगवानपुर, छित्तूपुर आदि इलाकों से कांवरिए भगवान शंकर की झांकियों के साथ अपने-अपने गंतव्य के लिए रवाना होते रहे।

View More

24x7 HELP

Visitor
अब तक देखा गया