खत्म करो इंतजार: लखनऊ में निवेश के लिए अंतरराष्ट्रीय कार्गो टर्मिनल जरूरी

Updated on: 16 September, 2019 02:54 AM

इनवेस्टर समिट के बाद लखनऊ में उद्योग की संभावनाओं को देखते हुए एयरपोर्ट पर भी कई बदलाव जरूरी होंगे। इनमें कार्गो टर्मिनल शामिल है। चेन्नै, दिल्ली, मुम्बई में कार्गो टर्मिनल अलग से है लेकिन लखनऊ में नहीं। यहां सिर्फ कार्गो की सुविधा है जो कि सामान्य उड़ानों से आने या भेजे जाने वाले सामान की है। कार्गो टर्मिनल होने पर विशेष मालवाहक जहाज लखनऊ से उड़ान भर सकेंगे।

मौजूदा समय में एयरपोर्ट पर आने वाले सामान्य यात्री विमानों के ही कार्गो से आने वाला सामान चढ़ाया और उतारा जा रहा है। एयरपोर्ट अधिकारियों के अनुसार आने वाले समय में जरूरत बढ़ती जा रही है। लखनऊ और आसपास नए उद्योग शुरू हो रहे हैं। उनको यहां से अपना उत्पाद बाहर भेजने के लिए कार्गो टर्मिनल की जरूरत होगी। यह भी तभी सम्भव होगा, जब रनवे बढ़ेगा। इससे बड़े विमान लखनऊ में उतर सकेंगे।

वहीं वर्ष 1999 से 2000 के बीच अन्तरराष्ट्रीय टर्मिनल पर एक टन माल बाहर से आया था। घरेलू टर्मिनल पर इस अवधि 271 टन माल गया और 936 टन बाहर से आया। तब दोनों मिलाकर कुल 1208 टन का माल लखनऊ एयरपोर्ट पर आया या गया था। समय के साथ विमानों की संख्या बढ़ी। सामान लाने और भेजने में भी बढ़ोतरी हुई। 2018-19 में दोनों टर्मिनल से कुल 6111 टन माल आया और गया था। इसलिए यहां कार्गो टर्मिनल समय की मांग भी है।


कुल
2012-13 1156 टन 2290 टन 3445 टन
2014-15 1460 टन 3400 टन 4860 टन
2015-16 2655 टन 2301 टन 4957 टन
2016-17 2507 टन 2336 टन 4843 टन
2017-18 2994 टन 3335 टन6329 टन
2018-19 2633 टन 3478 टन6111 टन

ई-कॉमर्स से लगे कार्गो सेवा को पंख
ई- कॉमर्स से कार्गो सेवा को और उड़ान मिली है। लोग मोबाइल से लेकर अन्य उत्पाद मंगा रहे हैं जिसका बड़ा हिस्सा विमान के जरिए लखनऊ पहुंचता है। आने वाले दो साल में यह व्यापार और बढ़ने की उम्मीद है। ऐसे में कार्गो टर्मिनल लखनऊ के लिए जरूरी हो जाएगा।

अभी यहां से भेजे जा रहे फल, सब्जियां
मौजूदा समय लखनऊ से विमान के जरिए सब्जी, फल और मीट भेजा जा रहा है। कार्गो कर्मचारियों के अनुसार गर्मी के मौसम में आम की मांग बढ़ जाती है। ऐसे में देश के अन्य शहरों से लेकर खाड़ी देशों तक टनों आम विमान से भेजा जाता है। इसके अलावा अन्य शहरों और खाड़ी देशों में मिर्च की भी काफी मांग है।

View More

24x7 HELP

Visitor
अब तक देखा गया