पाकिस्तान और चीन ने द्विपक्षीय रक्षा सहयोग और पाकिस्तानी सेना के क्षमता निर्माण को बढ़ावा देने के लिए सोमवार को एक समझौते पर हस्ताक्षर किए। रावल" /> नई चाल! पाकिस्तान और चीन में रक्षा समझौता, कश्मीर पर भी हुई गुफ्तगू

नई चाल! पाकिस्तान और चीन में रक्षा समझौता, कश्मीर पर भी हुई गुफ्तगू

Updated on: 18 November, 2019 11:27 PM

पाकिस्तान और चीन ने द्विपक्षीय रक्षा सहयोग और पाकिस्तानी सेना के क्षमता निर्माण को बढ़ावा देने के लिए सोमवार को एक समझौते पर हस्ताक्षर किए। रावलपिंडी में सेना के मुख्यालय में सेंट्रल मिलिट्री कमीशन (सीएमसी) के उपाध्यक्ष जनरल जू किइलियांग के दौरे के दौरान समझौते पर हस्ताक्षर किये गए।

पाकिस्तान की सेना ने कहा, पाकिस्तान सेना के रक्षा सहयोग और क्षमता निर्माण में वृद्धि के लिए एक सहमति पत्र पर हस्ताक्षर किए गए। पाकिस्तानी सेना के अनुसार जनरल जू ने पाकिस्तान सेना प्रमुख जनरल क़मर जावेद बाजवा के साथ बैठक की। इसके बाद प्रतिनिधिमंडल स्तर की वार्ता हुई।

सेना ने कहा कि उन्होंने आपसी हित और क्षेत्रीय सुरक्षा के मुद्दों पर भी चर्चा की, साथ ही द्विपक्षीय रक्षा सहयोग को बढ़ाने के लिए भी कहा। सेना ने कहा कि उन्होंने जम्मू-कश्मीर में हालात पर भी विचार विमर्श किया।

वहीं दूसरी ओर ट्रंप-मोदी की मुलाकात के थोड़ी ही देर बाद पाक प्रधानमंत्री इमरान खान ने देश की जनता को संबोधित किया। इस दौरान वह झल्लाहट में यहां तक बोल गए कि भारत ने कश्मीर का विशेष दर्जा छीनकर ऐतिहासिक गलती की है। कश्मीर के लिए हम किसी भी हद तक जाने को तैयार हैं।

युद्ध की धमकी दी: इमरान ने धमकी देते हुए कहा कि अगर भारत- पाकिस्तान के बीच युद्ध हुआ तो इसका प्रभाव विश्व स्तर पर महसूस किया जाएगा। परमाणु युद्ध में कोई भी नहीं जीतता। यह न केवल इस क्षेत्र में कहर बरपाएगा, बल्कि पूरे विश्व को इसका परिणाम भुगतना होगा। अब इसे देखना अंतरराष्ट्रीय समुदाय का काम है।

View More

24x7 HELP

Visitor
अब तक देखा गया